About Us

लोकतंत्र के चोथे स्तम्भ के रूप में भले हमारी थोथी ताजपोशी हो गयी हो, किन्तु अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता में आज भी हमारे पैरो में बेड़िया पड़ी हुई है। मीडिया जगत में आये बड़े-बड़े व्यापारिक घरानो,हावी होते व्यवसायीकरण, और मीडिया जगत के सिरमौर बने लक्ष्मीपुत्रो ने कलमकार की कलम को कैद कर दिया।नतीजतन एक सरस्वतीपुत्र सिर्फ वो दिखाता हे जो उसके आका दिखाना चाहते है।

खबर आजकल” का यह मंच आपका अपना मंच हें जहां बिभिन्न विषयो पर आप खुलकर अपनी बात रख सकते है। हम चाहते हें कि वज़ूद खोती जा रही मीडिया आम आदमी की आवाज़ को सम्बल देकर पुनः उस वज़ूद को अंगीकार करे जिसने आज़ादी की लड़ाई में जनजागरण फेलाया….।

हमें अपने पाठकवर्ग, विज्ञापनदाताओं, सलाहकारो,सहयोगियों,खबर आजकल के परिवारीजनों का अमूल्य सहयोग भी अपेक्षित हे क्योंकि उनके बहुमूल्य सुझावो, प्रतिक्रियाओ ,सहयोग के बिना तो हम हमेशा ही अपूर्ण रहेंगे। पीत पत्रकारिता से कोसो दूर “खबर आजकल” का यह साँझा मंच आप सभी के हांथो में समर्पित है, जिसे हम सभी को मिलकर शिखर की ओर ले जाना हैं। आइये, इस अभियान के सारथी बने……।