शिवपुरी – जिला सहकारी बैंक की कुर्सी को लेकर भाजपा में माहौल गरमाया, कई दावेदार लॉबिंग में जुटे*

844

 

– *तीन नामों की चर्चा*

– *कोलारस उपचुनाव से पहले हो सकती है घोषणा*

शिवपुरी।

शिवपुरी जिला जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के चेयरमेन की खाली कुर्सी पर नियुक्ति की प्रक्रिया को लेकर भाजपा में माहौल गरमा गया है। सूत्रों ने बताया है कि भाजपा प्रबन्ध समिति ने तीन नेताओं के नाम का पैनल भोपाल भेजा है जिनमे पार्टी के महामंत्री जगराम यादव, कार्यालय प्रभारी देवेंद्र श्रीवास्तव और अशोक खण्डेलवाल का नाम शामिल बताया गया है।

पिछले दिनों सहकारिता मंत्री विश्वास सारंग के कोलारस प्रवास पर नेताओं ने जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष पद पर जल्द नियुक्ति की मांग की थी। इसके अलावा कई दावेदार मंत्री सारंग की खुशामद करते हुए भी देखे गए थे। बताया जाता कि प्रबन्ध समिति द्वारा भेजे गए नामों पर ही पार्टी के अंदर अंसतोष की खबरें हैं। एक बड़ा वर्ग इन तीनों नामो का विरोध कर रहा है। वहीं पूर्व मंत्री और जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष भैया साहब लोधी तो भोपाल में सभी बड़े नेताओं से अपना विरोध दर्ज करा रहे है। सूत्रों के अनुसार पोहरी विधायक प्रहलाद भारती यशोधरा खेमे के अशोक खण्डेलवाल को चेयरमेन बनवाने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा रहे है। बताया जा रहा है कि पार्टी ने अशोक खंडेलवाल का नाम भारती के दबाब में ही पैनल में शामिल किया गया है उन्हें मंत्री यशोधरा राजे का भी विश्वास हासिल है। इसी तरह जिला महामंत्री जगराम यादव को कुर्सी दिलाने के लिए किसान मोर्चा प्रमुख रणवीर रावत ने अपनी पूरी ताकत झोंक रखी है। उन्ही के कहने पर प्रबन्ध समिति ने जगराम का नाम आगे भेजा है। जगराम मंडी अध्यक्ष भी रहे है और फिलहाल वे संगठन और तोमर खेमे दोनों की पसंद है चूंकि विश्वास सारंग मंत्री तोमर के नजदीकी है इसलिए जगराम की बजनदारी मजबूत हुई है। हो सकता है यादव वोटों को ध्यान में रखते हुए और कोलारस उपचुनाव से पहले ही जगराम सिंह की नियुक्ति कर दी जाए।

*आधी रात को झा की आगवानी के लिए पहुंचे अशोक*

जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष को लेकर भाजपा नेताओं में बेचैनी देखी जा रही है। यशोधरा राजे खेमे से जुड़े अशोक खंडेलवाल तो सोमवार की रात को पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा की आगवानी के लिए पहुंच गए। सूत्रों ने बताया है कि उन्होंने जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष के लिए श्री झा से बात की है। ये नियुक्ति कोलारस उपचुनाव से पहले होनी है। अशोक खण्डेलवाल वैसे तो कट्टर यशोधरा समर्थक है लेकिन बैंक चेयरमैन बनने के लिए वे घुर यशोधरा विरोधी प्रभात झा की मदद लेने से भी नही चूक रहे हैं। ये अलग बात है कि वे रात के अंधेरे में यह मुलाकात करते है। बन्द कमरे में झा ने उन्हें क्या आश्वासन दिया है ये वक्त ही बताएगा। फ़िलहाल आधी रात की ये मुलाक़ात बीजेपी में चर्चा का विषय बनी हुई है। भाजपा में जिन नेताओं के नाम बैंक अध्यक्ष की दौड़ में चल रहे हैं वह अपने-अपने हिसाब से जोड़-तोड़ में लगे हैं। ऐसे में किसकी लाटरी इस पद पर निकली यह देखने वाली बात होगी।