शिवपूरी….करैरा जनपद के ग्राम कुचलोन मेँ मजदूरी न मिलने से मजदूर पलायन को मजबूर 

477

जनपद अध्यक्ष से मजदूरो ने अपना दुखडा रोया

*करेरा (शिवपुरी):-*

जनपद पंचायत करेरा की ग्राम पंचायत कुचलोन में मजदूरों को रोजगार ना मिलने से मजदूर पलायन को मजबूर हो रहे हैं। आज जनपद पंचायत की अध्यक्ष *श्रीमती बती आदिवासी,* जनपद सदस्य कप्तान पाल, *पंचायत निरीक्षक संजीव दुबे* के साथ ग्राम पंचायत कुचलोन पहुंचे ।उन्होंने वहां चल रहे निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया । ग्राम में चल रहे सुदूर संपर्क मार्ग जो पी एम रोड से धोबी मजरा नदी की ओर जाता है, जो लगभग 1 किलोमीटर का मार्ग लगभग 15 लाख रुपए की लागत से बनना है। वहां 16 नवंबर से 22 नवंबर तक 16 मजदूर, मजदूरी करते कागजों में दिखाई गए हैं। जबकि आज दिनांक 22 नवम्बर को एक भी मजदूर काम करता नहीं मिला। इसी मार्ग पर 23 नवंबर से 29 नवंबर तक 16 मजदूर जनरेट किए गए हैं, *लेकिन उक्त कार्य मशीनों से पहले ही करा दिया गया है* का जब निरीक्षण किया तो वहां एक भी मजदूर काम करता नहीं मिला। मजदूरों ने बताया कि यहां मशीनों से काम करा लिया जाता है यहां कोई मजदूरी नहीं दी जाती है। हम लोग मजदूरी के अभाव में गांव छोड़कर बाहर मजदूरी करने जाते हैं।
कुछ आदिवासी मजदूरो ने बताया की गरीब व आदिवासियो को मजदूरी नही दी जाती है सरपंच अपनी जाती के लोगो के नाम ही कागजो मे भरते है उन्ही के नाम खाते मे मजदूरी जमा की जाती है व मशीनो से काम कराया जाता है। मजदूरों ने तो यहा तक कहा कि हमे कभी मजदूरी नही दी गयी। इसलिये हम गाव छोडकर बाहर मजदूरी करने जाते है।
*उल्लेखनीय है कि पूर्व मे भी आदिवासी मजदूरो से मजदूरी को लेकर झगड़ा हो गया था। जिसका मुकदमा दिनारा थाने मेँ दर्ज है*।
जनपद अध्यक्ष श्रीमती बती आदिवासी ने ग्रामीणो से खाद्यान्न वितरण सहित शासन द्वारा संचालित अन्य योजनाओं की जानकारी ली। यहां उन्होंने पेयजल की व्यवस्था के बारे में भी जानकारी ली। ग्रामीणों ने बिजली की समस्या के बारे में बताया, तो उन्होंने सहायक यंत्री सुबोध टेंभुर्णीकर को फोन पर बात कर विद्युत व्यवस्था शीघ्र सुचारू बनाए जाने हेतु कहा।