अभिव्यक्ति की आजादी पर अंकुश को लेकर क्या मानते है प्रसिद्ध इतिहासकार रामचंद्र गुहा जी व जाने-माने विचारक पुरुषोत्तम अग्रवाल जी……! देखिये-वरिष्ठ पत्रकार डॉ राकेश पाठक की “सीधी बात “

515

वर्तमान परिवेश में रचनात्मक ,सृजनात्मक विधाओं पर अंकुश लगाया जा रहा है। अभिव्यक्ति की आजादी पर अंकुश लगा हुआ है। और ऐसे में यह मुद्दा देश के लिए महत्वपूर्ण मुद्दा हो जाता है जिस पर विचार किया जाना आवश्यक है ।

वरिष्ठ पत्रकार एवं विचारक डॉ राकेश पाठक द्वारा इस महत्वपूर्ण मुद्दे पर प्रसिद्ध इतिहासकार रामचंद्र गुहा जी व जाने माने विचारक पुरुषोत्तम अग्रवाल जी से विस्तृत चर्चा की गई।

देखिए ,ख़बराजकल.कॉम के माध्यम से चर्चा के विस्तृत अंश…..