शिवसेना ने कहा – नहीं रही 3 साल पहले जैसी मोदी लहर, गुजरात में भाजपा कर रही है संघर्ष

256

शिवसेना सांसद संजय राउत एक बार फिर बीजेपी और पीएम नरेंद्र मोदी की नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर हमला बोला है. संजय राउत का कहना है, ”3 साल पहले मोदी वाली लहर नहीं रही. 3 साल पहले लोगों के मन में विश्वास था कि कुछ ना कुछ बदलाव हो जाएगा. यही वजह है कि लोगों ने वोट दिया था.” आजतक से खास बातचीत में संजय राउत ने कहा कि बीजेपी में अब वह बात नहीं रही. 2014 में जो लहर थी वो लहर नहीं है. बीजेपी को अब मेहनत करनी पड़ेगी, चुनाव मेहनत से जीतना पड़ेगा.

संजय राउत ने आगे कहा कि हमें दिख रहा है कि प्रधानमंत्री और अमित शाह का गृह राज्य होने के बावजूद गुजरात में बीजेपी को बहुत मेहनत और संघर्ष करनी पड़ रही है. हालांकि हमारी शुभकामनाएं है कि बीजेपी को गुजरात में जीतना चाहिए.

शिवसेना के बारे में बताते हुए संजय राउत ने कहा कि शिवसेना के जो मन में हो तो वह बोल देते हैं. हम अंदर दबाकर नहीं रखते हैं. कुछ लोग राजनीति में ऐसे होते हैं जो बात को दबा कर बैठे रहते हैं. हम जो लोग और देश सोचता है, उस दिशा में आगे बढ़ेंगे.

मोदी लहर के बारे में संजय राउत का कहना है कि अब वह लहर नहीं रही है. लोगों की ऐसी भावनाएं हैं कि वह फीकी पड़ गई है. जमीन पर कुछ दिखाई नहीं दे रहा है. लोगों को BJP और मोदी से उम्मीदें थी वह पूरी नहीं हुई है. आज लोगों का मन बदला है.

राहुल गांधी के बारे में शि‍वसेना सांसद ने कहा है कि राहुल गांधी के प्रति जनता का रुझान बदला है और नजरिया चेंज हुआ है. लोग राहुल को गंभीरता से लेने लगे हैं . उनकी बात को सुनने लगे हैं. यही वजह है कि गुजरात में भी बीजेपी को संघर्ष करना पड़ रहा है. 2019 का चुनाव भी BJP के लिए आसान नहीं होगा. संघर्ष करना पड़ेगा, मेहनत करनी पड़ेगी.

राहुल गांधी की काफी तारीफ की

संजय राउत का यह भी कहना है कि जिस राहुल गांधी को 3 साल पहले BJP के लोग पप्पू कहकर पुकारते थे. लोग चिढ़ाते थे, खासकर BJP के लोग. संजय राउत ने कहा कि आज वह 3 साल पहले वाला पप्पू नहीं रहा. यह सोचना चाहिए यह मेरा भी मानना है कि लोग राहुल गांधी को सीरियसली ले रहे हैं. उद्योग हो या सामाजिक क्षेत्र हो, उसकी तरफ लोग देखते हैं. संजय राउत ने कहा कि पहले मैंने देखा है कि जब राहुल गांधी का भाषण आता था, सब लोग चैनल बदल लेते थे. अब लोग चैनल नहीं बदलते हैं. अब माहौल बदल गया है, लोग उनको सुनते हैं.

संजय राउत ने कहा कि इससे मालूम होता है कि हमारे में कुछ कमी है. बीजेपी के 2014 के सक्सेस से मीडिया की ताकत बहुत बढ़ी थी. आज राहुल गांधी के बारे में मीडिया बहुत अलग तरह से सोचता है. आज मीडिया उनके प्रति सहानुभूति रखता है. संजय राउत ने कहा कि यह लोगों के मन और देश की बात है. संजय राउत ने यहां तक कहा कि अगर शिवसेना ही नहीं बोलेगी तो इस देश में और किसी की हिम्मत नहीं है बोलने की.