ऑनर किलिंग : “अच्छी नही थी बहन की संगत,इसलिए मार डाला…..! भाईदूज पर सामने आया बहन का हत्यारा भाई* *मलेनी नदी की पुलिया के पास नदी में एक सप्ताह पहले मिली महिला की मौत का मामला ऑनर किलिंग का निकला।*

535

 

*रतलाम।* जिले के बड़ावदा थाना क्षेत्र में जावरा-नागदा रोड पर मलेनी नदी की पुलिया के पास नदी में एक सप्ताह पहले मिली महिला की मौत का मामला ऑनर किलिंग का निकला। आरोपी मृतका का बड़ा भाई निकला। बहन की संगत अच्छी नहीं होने से भाई नाराज था। उसने पहले बहन के साथ मारपीट की और फिर उसे कार की डिक्की में डालकर नदी की पुलिया पर ले गया और वहां जिंदा बहन को ही नदी में फेंक दिया था।

प्रारंभिक जांच में महिला की मौत पानी में डूबने से होना प्रतीत हो रही थी लेकिन पुलिया पर मृतका की टूटी पायजब मिलने से पुलिस को शंका हुई। पुलिस ने बारिकी से जांच की तो मामला हत्या का निकला। पुलिस ने आरोपी भाई को गिरफ्तार कर लिया है।

उल्लेखनीय है कि 12 अक्टूबर 2017 को नयापुरा मलेनी नदी की पुलिया के पास अज्ञात महिला का शव मिला था। पुलिस ने उसके फोटो लेकर सोशल मीडिया पर प्रचारित किए थे। कुछ देर बाद सोशल मीडिया के माध्यम से मृतका की शिनाख्त कशिश पति अली हुसैन (23) निवासी जुलाहीपुरा जावरा के रूप में हुई थी।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में उसकी मौत पानी में डूबने से होना व परिजन ने उसे मानसिक रोगी होना बताया था, लेकिन पुलिया के ऊपर कशिश की पायजब का टूटा टुकड़ा मिला। इस पर पुलिस को मामला शंकास्पद लगा। एसपी अमितसिंह के मार्गदर्शन और एएसपी प्रदीप शर्मा व जावरा एसडीओपी डीआर माले के निर्देशन में बड़ावदा थाना प्रभारी राजेंद्रसिंह पंवार व उनकी टीम ने बारिकी से जांच की तो मामला हत्या का पाया गया।

एएसपी शर्मा ने शनिवार दोपहर पत्रकारवार्ता में मामले का खुलासा करते हुए बताया कि जांच के दौरान पता चला कि कशिश संगत अच्छी नहीं थी और उसका कुछ अन्य लोगों से बातचीत करना परिवार को अच्छा नहीं लगता था। इसे इसे लेकर कशिश व परिजन के बीच 15 दिन पहले विवाद भी हुआ था। तब से वह हुसैन टेकरी जाकर रह रही थी।

11 अक्टूबर की रात बड़े भाई आरोपी अलतमश उर्फ आशु पिता नसरत खान (24) निवासी हनुमान गली जावरा हुसैन टेकरी बहन के पास पहुंचा। वहां उसने बहन को समझाने की कोशिश की। इसे लेकर उनके बीच वाद-विवाद हुआ और अलतमश ने कशिश से मारपीट की। इसके बाद वह कार (एमपी-09/सीपी-2481) की डिक्की में डालकर कशिश को मलेनी नदी की पुलिया पर ले गया था।

पुलिस पर उसने डिक्की से बहन को निकाला और उसे नदी में फेंक दिया था। इससे कशिश की मौत हो गई थी। इसके बाद अलतमश कार से इंदौर भाग गया था। पुलिस ने जांच में आए तत्यों के आधार पर शनिवार को अलतमश को हिरासत में लेकर पूछताछ की और उसकी कार की तलाशी ली। कार की डिक्की में कशिश का मोबाइल फोन पर टूटी हुई पायजब मिली।

जब पुलिस ने इस संबंध में पूछताछ की तो आरोपी ने अपना जुर्म स्वीकार किया। कशिश ने अली हुसैन से प्रेम विवाह किया था। पांच माह पहले अली हुसैन ने एक युवक की हत्या कर दी थी, तब से वह जेल में बंद है। उसके बाद कशिश माता-पिता के घर जाकर रह रही थी।