Bhopal- मंत्री ने दो बार लोटाई फाइल कोमल जलबा हटने के बाद भी  बरकरार ।सी एम पर भारी राजपूत।

389

जय सिहं चोहान

खास खबर
म.प्र. सरकार की अडियल मंत्री कुसुम महलेदे ने पी एच ई विभाग की सब इंजीनियर से सहायक इंजीनियर के पद पर हाईकोर्ट के आदेश से पदौउनंत हुए २३ इंजीनियरेा की पोस्टिंग के आदेश की फाइल दो बार बिना आदेश किए वापस विभाग के पी एस को भेज दी है । सूत्राै कि माने तो ए फाइल मंत्री क बगंले से हटाए गए पी ए कोमल सिहं राजपूत के इसारे पर लोटाई गई है । सी एम शिवराज सिहं की नाराजगी के कारण मंत्री के पी ए को सिकायतो के चलते मंत्री क बंगले हटा दिया गया हे ।राजपूत ने दुसरे विभाग मे आमद भी  दे दी है। लेकिन राजपूत आज भी  निजी तौर पर महलेदे के बंगले का कम पुरी तरह से देख रहे है।आज भी  मंत्री बिना राजपूत के कोई फेसला नहीं लेती है। देर रात राजपूत को मंत्री के बंगले पर देखा जा सकता है। शासन ने जब पी ए कोमल सिहं राजपूत को मंत्री के निजी सटाफ से हटा दिया है तो वो रौज मंत्री के बंगले क्या करने जाते है। ओर मंत्री की फाइलो को क्याे देखते ।क्या सी एम इस बात की जांच कराएंगे।
सूत्राै की माने तो २०१३ मे इन २३ इंजीनियरो की डी पी सी के बाद प्रमोशन हो गया था।उस समय आदेश जारी करने के लिए इसी पी ए राजपूत ने कार्यपालन यंत्री बी के चतुवेदी के माध्यम से लाखो रुपाए लिए थे। मोटी रकम लेने के बाद भी  आदेश जारी नहीं हुए ओर राजपूत ने ए मोटी रकम ही लोटाई
मजबूरन ए इंजीनियर हाईकोर्ट चले गए ।तीन साल से जादा समय के बाद अदालत ने शासन को इन इंजीनियरो को प्रमोशन करने के आदेश जुलाई २०१७ को दिए ।शासन ने २९ /७/२०१७ को प्रमोशन आदेश जारी कर दिए। २९/७ से २२/९ यानी दो माह मे दो बार आदेश के लिए फाइल मंत्री ‘महलेदे के पास भेजी गई ।पर मंत्री ने दोनो बार फाइल बिना आदेश किए वापस लोटा दी इस के पीछे पूरव पी ए कोमल सिहं राजपूत का हाथ बताया जा रहा है।फाइल लोटाने के पीछे एक बार इन इंजीनियरो से मोटी रकम वसुल ने ओर इशारा कर रही है ।
सी एम शिवराज सिहं ने खुद ए बात कही थी कि पैसौ के लिए फाइलो को बहुत दिनो तक दबा कर रखा जाता है।सी एम कि इस बात की पुषटी मंत्री के यहा से बिना आदेश के लोटना करता है
दो महिने से अधिक बिना पौसटिंग के कारण इन इंजीनियरो को वेतन नहीं मिल रहा है। ओर मंत्री ने इसी तरह किया तो दशहरा ओर दीपावली पर भी  इन को वेतन नहीं मिलेगा। बिना वेतन के इन के घरो मे दीपावली केसे मनाऐगे ।
अब बीमारी के कारण मंत्री कुसुम महलेदे इलाज कराने बंबई चली गई है। मंत्री जो काम भोपाल मे रह कर नहीं कर सकी वो काम क्या बंबई मे इलाज के दौरान करेगी।
सी एम शिवराज सिहं जरा अपने एसे अडियल मंत्रियों को देखो।ए क्या कर रहे है।