video-शिवपुरी- बहुचर्चित मगरौनी लूट कांड का राजफाश , 2 आरोपी गिरफ्तार,1 महिला को भी लिया हिरासत में,गिरफतार आरोपियों में बामौर का पार्षद भी,मगरौनी में सर्राफा व्यवसायी को गोली मारकर दी थी लूट की बड़ी वारदात को अंजाम, जेवरात हुए बरामद,करेरा पुलिस की कार्यवाही

1717
 ऊपर video देखे……
मगरौनी में सर्राफा व्यवसायी को गोली मारकर दी थी लूट की बड़ी वारदात को अंजाम,
जेवरात हुए बरामद,
करेरा पुलिस की कार्यवाही
शिवपुरी-मगरोनी के बहुचर्चित गोली मारकर सराफा व्यवसाई की लूट कांड के मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है ।इन आरोपियों में एक आरोपी बामोर का बहुजन समाज पार्टी का पार्षद भी है ।आरोपियों के साथ में एक महिला भी है ।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार 5 अगस्त को मगरोनी के सराफा व्यवसाई बृजेश सोनी को अज्ञात बदमाशों ने उस समय गोली मार दी थी जब वह अपनी दुकान बंद करके घर जा रहे थे ।नकाबपोश आरोपियों ने उनसे 2500000 रुपए के गहने भी छुड़ा लिए थे और गोली मारकर फरार हो गए थे ।घटना की सूचना मिलते ही जहां व्यापारी वर्ग में दहशत फैल गई थी वहीं पुलिस भी तत्काल प्रभाव से सक्रिय हो गई थी ।
पुलिस अधीक्षक सुनील पांडे ने इस लूटकांड को चैलेंजिंग स्वरूप में लिया और बदमाशों की पतासी के लिए अपने सूत्र फैलाना शुरू कर दिए। बताया जाता है कि जब बदमाश लूटे गए माल को बेचने की फिराक में थे उसी समय पुलिस के सूत्रों ने पुलिस को यह सूचना दे दी जिस पर एक महिला सहित दो बदमाशों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। बदमाशों में एक बदमाश बामोर का पार्षद दशरथ है जो बहुजन समाज पार्टी से है।
पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार पांडे के अनुसार तकरीबन 600000 रुपए के जेवरात भी बरामद किए हैं। उनके अनुसार लूटे गए सामान की कीमत अधिक बताई गई थी ।संभव है इतना सामान नहीं लूटा गया था जिसकी जांच की जाएगी ।फिलहाल पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर एसडीओपी सुजानिया के माध्यम से इस बड़े लूटकांड को जल्द सुलझा ने से व्यापारियों में हर्ष व्याप्त है।
 केसे हुआ राजफाश …….देखिये …
*मगरौनी कस्बे में 5 अगस्त को सर्राफा व्यापारी बृजेश सोनी उर्फ छोटू को गोली मारकर उससे सोने चांदी के जेवरात लूटने की वारदात का पर्दाफाश पुलिस की सक्रियता के चलते हो गया है। पुलिस ने इस मामले में नगर पंचायत बामौर का पार्षद दशरथ अटारिया पुत्र धनीराम जाटव तथा इस वारदात की रैकी करने वाले स्थानीय निवासी पवन गोस्वामी फूलपुर तथा चोरी के माल को अपने यहां रखने वाली किरण कड़ेरा वेबा अशोक कड़ेरा को गिरफ्तार कर लिया गया है। जबकि शेष 3 अन्य आरोपी विशंभर गोस्वामी पुत्र सुंदर गोस्वामी निवासी बामौर, रामप्रीत गुर्जर और जीतू गुर्जर फरार बने हुए हैं।*
पुलिस कंट्रोल रूम में आयोजित पत्रकारवार्ता में पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार पांडेय और एसडीओपी करैरा अनुराग सुजानिया द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार इस लूटकांड में ग्राम फूलपुर थाना सीहोर निवासी पवनगिरी पुत्र गोपालगिरी ने रैकी कर अपने साथियों को बताया था कि बृजेश सोनी की सोने चांदी की बड़ी दुकान है एवं उसके यहां अच्छा माल मिलेगा। घटना दिनांक को आरोपी जीतू गुर्जर, विशंभर गोस्वामी, पवनगिरी, रामप्रीत गुर्जर तथा रामप्रीत का एक अन्य साथी मुरैना से निकलकर डबरा होते हुए मगरौनी आए तथा उन्होंने बृजेश सोनी की लूट को अंजाम दिया। बृजेश सोनी की कनपटी पर पहले एक ने कट्टा अड़ाया तथा बैग मांगा। विरोध करने पर विशंभर गोस्वामी ने गोली मार दी। जो उसके दाहिनें सीने में जाकर लगी। फिर ये सब आरोपीगण लूट का माल लेकर फरार हो गए। सब लोगों ने अपने अपने हिस्से बांट लिए तथा कुछ माल किरण बड़ेरा के यहां छुपा दिया। किरण बड़ेरा को भी हिस्सो देने का लालच दिया गया। तीनों गिरफ्तार आरोपियों से करीब 150 ग्राम सोना कीमती 4 लाख 30 हजार रूपए तथा करीब साढ़े पांच किलो चांदी कीमती 2 लाख रूपए बरामद की गई। इस मामले में गिरफ्तार दशरथ कटारिया बामौर नगर पंचायत में बहुजन समाज पार्टी का निर्वाचित पार्षद है। पुलिस ने सबसे पहले उसी को गिरफ्तार किया। इस मामले में पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार पांडेय को मुखबिर से सूचना मिली जिसके आधार पर काम करते हुए बामौर जिला मुरैना में एसपी के निर्देशन और एसडीओपी के मार्ग दर्शन में पुलिस पार्टी रवाना की गई। जहां पहुंचकर पता चला कि पार्षद दशरथ कुछ चोरी का सामान बेचने के लिए सुनारों के यहां घूम रहा है। पुलिस ने बामौर में छानबीन करते हुए दशरथ अटारिया को गिरफ्तार कर लिया और उससे सघन पूछताछ की जिसमें उसने घटना की पूरी प्लानिंग स्पष्ट करते हुए बताया कि स्थानीय फूलपुर निवासी पवनगिरी ने रैकी कर उन्हें यहां बुलाया था। मगरौनी में सर्राफा व्यापारी को गोली मारकर लूट करने के मामले में पुलिस अधीक्षक ने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए 10 हजार रूपए का इनाम घोषित किया था। बताया जाता है कि यह इनाम पुलिस टीम को मिलेगा। प्रकरण के खुलासे में मगरौनी चौकी प्रभारी सुनील सिकरवार, थाना प्रभारी सतनवाड़ा जयसिंह यादव, एसआई जेएस मुजोरिया, थाना प्रभारी नरवर सुरेश नागर, एएसआई प्रवीण, आरक्षक विकास, देवेंद्र परिहार और दशरथ गुर्जर की अहम भूमिका रही।
 आरोपियों व् बरामद माल के साथ पुलिस के अधिकारी व् टीम ..
Chat conversation end