वोटिंग शुरू, अहमद पटेल के लिए एक-एक वोट कीमती

464

राज्यसभा के लिए गुजरात की तीन सीटों के लिए आज चुनाव होना है. आज सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक मतदान होगा. शाम पांच बजे वोटों की गिनती शुरू होगी और शाम सात बजे तक नतीजे आ जाएंगे. गुजरात में आज राज्यसभा की तीन सीटों के लिए मतदान है. तीनों सीटों पर बीजेपी ने राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और बलवंत सिंह को मैदान में उतारा है. वहीं, कांग्रेस से सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल मैदान में हैं.
राज्यसभा चुनाव के लिए वोटिंग शुरू हो गई है. शाम 4 बजे तक ही वोट डाले जाएंगे.मतदान करने के लिए कांग्रेस के सभी विधायक गांधीनगर के लिए निकल गए हैं.
सूत्रों के मुताबिक, सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल को बड़ी राहत मिल सकती है, खबर ये है कि गुजरात में जेडीयू के विधायक ने बीजेपी को वोट देने से मना कर दिया है. बिहार में जब लालू–नीतीश की सरकार थी, तब जेडीयू ने गुजरात में जेडीयू के सिर्फ एक विधायक छोटू भाई वसावा को कांग्रेस के समर्थन में वोट देने को कहा था, लेकिन अब बीजेपी-जेडीयू की सरकार बिहार में बनने के बाद नीतीश कुमार और केसी त्यागी ने वसावा को बीजेपी के समर्थन में वोट देने को कहा है. लेकिन वसावा नें बीजेपी को वोट देने से मना कर दिया है. माना जा रहा है कि वसावा शरद यादव के करीबी हैं.
*गुजरात के विधायकों का गणित*
गुजरात विधानसभा में कुल 182 सदस्य हैं. 6 कांग्रेस विधायकों के इस्तीफे के बाद अब विधानसभा में 176 विधायक बचे हैं. इनमें बीजेपी के 121 और कांग्रेस के 51 विधायक हैं. जीत के लिए हरेक उम्मीदवार को कम से कम 45 विधायकों के वोट चाहिए. बीजेपी विधायकों की संख्या के मद्देनज़र अमित शाह और स्मृति ईरानी की जीत तय है.
*बीजेपी के तीसरे उम्मीदवार के पास सिर्फ 31 वोट*
बीजेपी के तीसरे उम्मीदवार बलवंत सिंह के पास उनकी पार्टी आंकड़ों के हिसाब से सिर्फ 31 वोट हैं, लेकिन बीजेपी बाहरी विधायकों के वोट झटकने की उम्मीद में बलवंत की जीत का दावा कर रही है. कांग्रेस के 51 विधायकों के आधार पर अहमद पटेल की जीत पक्की होनी चाहिए थी, लेकिन ऐसा नहीं है. अहमद पटेल के पाले में कांग्रेस के वो 44 विधायक ही पक्के माने जा रहे हैं, जिन्हें पहले बेंगलूरु और फिर आणंद के रिजॉर्ट में एक साथ रखा गया था.