रांची में लालू बोले – नीतीश दगाबाज रे , हाय दगाबाज रे …….!

372

रांची ! सुशील मोदी को पब्लिक में लालू का इमेज खराब करने के लिए फिक्स किया गया था. सब टाइमिंग फिक्स था. लालू और लालू के बेस से मोदी-अमित घबरा गए. गुरुवार को सीबीआई कोर्ट में पेशी के बाद लालू प्रसाद से रांची के स्टेट गेस्ट हाउस में नीतीश समेत भाजपा पर बरसते हुए ये बातें कही.

बातचीत के दौरान लालू कई बार अपने पुराने अंदाज में भी नजर आए. हाल के दिनों में मीडिया के भूमिका पर चर्चा की तो यह भी कहा कि मीडियों को कई दिनों का स्टॉक दे रहा हूं.

कहा कि सरकार अच्छी खासी चल रही थी. नीतीश के इस कदम ने बिहार को विकास की जगह विनाश के रास्ते पर धकेल दिया.नीतीश कुमार के शराबबंदी को भी ढोंग करार दिया.

कहा कि नीतीश कुमार ने कभी तेजस्वी यादव से इस्तिफा नहीं मांगा. पब्लिक के सामने सफाई देने को कहा. लालू प्रसाद ने सवाल किया कि क्यों दे सफाई! सीबीआई-पुलिस के सामने जो पूछा जाएगा, जवाब देंगे. पर खुलेआम सफाई देने का क्या मतलब है.


सवाल किया कि नीतीश कुमार क्या सीबीआई के डायरेक्टर हैं जो इंवेस्टीगेशन करेंगे और उन्हें जवाब दिया जाएगा. सवाल किया कि बीजेपी से हाथ मिलाने के लिए नीतीश कुमार ने ढोंग क्यों रचा. इस्तीफ के बाद महागठबंधन का नया नेता क्यों नहीं चुना गया. आनन फानन में बीजेपी के साथ मिल कर नई सरकार बना ली. सबसे बड़े दल को राज्यपाल ने क्यों नहीं बुलाया. हम साबित करते बहुमत. अंत में लगाया जा सकता था राष्ट्रपति शासन. विधायकाें के बंद करके रखने का भी आरोप लगाया.

कहा कि तेजस्वी एक बहाना था, दरअसल नीतीश कुमार को बीजेपी के पास जाना था. नीतीश अवसरवादी नेता हैं. कहा कि नीतिश कुमार के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट तक जाएंगे.

कहा कि बिहार के मुख्यमंत्रीनीतिश कुमार पर हत्या का आरोप है. 302 का मुकदमा दर्ज है. सीताराम हत्याकांड के आरोपी हैं. कहा कि बिहार में दलितों, पिछड़ों और मुसलमानों ने जनादेश दिया था बीजेपी के खिलाफ. मैंने नीतीश कुमार को सीएम बनाया.

तेजस्वी यादव को उदयमान सूरज बताते हुए कहा कि वह बढ़िया काम कर रहे थे. कहा कि नीतीश बताएं कि 20 महीनों में तेजस्वी यादव ने क्या गलत किया. लालू यादव ने कहा कि पूरी स्टोरी फिक्स थी. अमित शाह सुपर एडिटर हैं पूरे मामले के. कहा कि लालू यादव की हर चाल से वे वाकिफ थे.

लालू यादव ने क कि अब अखिलेश यादव और मायावती को एक मंच पर लाएंगे. पटना रैली में सबको बुलाने की बात कही.