राजस्थान – बाढ़ से अब तक 15 लोगों की मौत, सेना ने 27 लोगों को बचाया

371

सेना ने दक्षिण पश्चिम और दक्षिण पूर्वी राजस्थान से 27 लोगों को बचाया और इन क्षेत्रों में स्थिति में धीरे धीरे सुधार हो रहा इै जहां पिछले दो दिनों से हो रही भारी वर्षा से बाढ़ जैसी स्थिति थी.

राहत सचिव हेमंत गेरा ने बताया कि जालौर, सिरोही, पाली और बाड़मेर जिलों में अभी तक वर्षा संबंधी घटनाओं में 15 लोगों की मौत हुई है, 640 को बचाया गया और 2225 को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है.

इसके साथ ही चारों जिलों में आठ हजार से अधिक लोगों को भारी वर्षा से पहले सुरक्षित स्थानों पर जाने के लिए कहा गया है. गेरा ने सूचित किया कि इन जिलों में 507 लोग 20 राहत शिविरों में रह रहे हैं. बुधवार को किसी की मृत्यु होने की सूचना नहीं मिली जबकि कुछ लोगों को जालौर के जलमग्न गांवों से बचाया गया और सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया.

गेरा ने कहा, सोमवार को आठ लोगों की और मंगलवार को सात लोगों की मौत हो गई थी. बुधवार को किसी की मृत्यु होने की सूचना नहीं है. उन्होंने कहा कि एक जून से 22 लोगों की वर्षा संबंधी घटनाओं में मौत हो गई है जबकि राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में बिजली गिरने से 11 व्यक्तियों की मौत हो गई.


जालौर के जिलाधिकारी लक्ष्मीनारायण सोनी ने पीटीआई-भाषा से कहा, सेना और जिला प्रशासन ने 27 लोगों को विभिन्न स्थानों से बचाया. प्रभावित जिलों में कई गांव अभी भी पानी से घिरे हुए हैं और कोई सड़क सम्पर्क नहीं है. सोनी ने कहा, एनडीआरएफ और एसडीआरएफ टीमों को इन क्षेत्रों में राहत अभियान में लगाया गया है. प्रभावित लोगों को खाने के पैकेट और पेयजल मुहैया कराया जा रहा है.

इस बीच जोधपुर और उदयपुर संभागों में कल से छिटपुट स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा हुई है. मंगलवार से सिरोही के माउंट आबू में 32 सेंटीमीटर जबकि बांसवाड़ा और कुम्भलगढ़ में क््रुमश: 13 और 11 सेंटीमीटर वर्षा हुई है. मौसम विभाग ने दक्षिण पूर्व और दक्षिण पश्चिम हिस्सों कल तक भारी वर्षा की चेतावनी दी है.