जाहिद खान को वागीश्वरी पुरस्कार किताब ‘तरक्कीपसंद तहरीक के हमसफर’ पर मिला सम्मान

289

शिवपुरी। हिन्दी साहित्य और भाषा के संरक्षण और संवर्धन के लिए बीते

पचपन वर्षां से कार्य कर रही प्रदेश की प्रतिष्ठित संस्था ‘मध्य प्रदेश हिन्दी साहित्य

सम्मेलन’ ने विगत दिवस राजधानी भोपाल में साल 2016 के वागीश्वरी पुरस्कारों की

घोषणा की। सम्मानित होने वालों में नगर के युवा लेखक-ंउचयपत्रकार जाहिद खान

भी शामिल हैं। उन्हें ये पुरस्कार उनकी पिछले साल उद्भावना प्रकाशन, नई

दिल्ली से प्रकाशित किताब ‘तरक्कीपसंद तहरीक के हमसफर’ के लिए मिलेगा।

प्रगतिशील आंदोलन से जुड़े हिन्दी, उर्दू के प्रमुख रचनाकारों, संस्कृतिकर्मियों और

कलाकारों के व्यक्तित्व और कृतित्व पर केन्द्रित इस चर्चित किताब के एक साल में

दो संस्करण निकल चुके हैं। जाहिद खान के अलावा यह पुरस्कार सुश्री श्रुति कुशवाहा

(भोपाल) को उनके काव्य संग्रह ‘कशमकश’ और श्रीमती सुमन सिंह

(भोपाल) को कहानी संग्रह ‘छिंगुरी’ के लिए दिया जाएगा। सम्मान कार्यक्रम

भोपाल में आयोजित होगा, जिसकी तारीख का एलान बाद में किया जाएगा।

लेखक, पत्रकार जाहिद खान बीते डे-सजय़ दशक से लेखन कार्य कर रहे हैं।

सम-ंउचयसामयिक मसलों पर देश भर के पत्र-ंउचयपत्रिकाओं में उनके पांच सौ से ज्यादा

आलेख प्रकाशित हो चुके हैं। साहित्य के क्षेत्र में उनका यह पहला पुरस्कार है।

जबकि पत्रकारिता के क्षेत्र में उन्हें अभी तलक तीन बार सम्मानित किया जा चुका है।

लैंगिक संवेदनशीलता पर उत्कृष्ठ लेखन के लिए मुंबई की एक सामाजिक संस्था

‘पापुलेशन फर्स्ट’ और यूएनएफपीए (यूनेस्को) उन्हें दो बार साल 2011-ंउचय12

और 2013-ंउचय14 में ‘लाड़ली मीडिया अवार्ड फॉर जेंडर सेंसिटिव्हिटी’ से

सम्मानित कर चुकी है, तो ‘टर्निग इंडिया सम्मान’ उन्हें मिला दीगर सम्मान है।

जाहिद खान को कम समय में साहित्य के क्षेत्र मेंं मिली इस शानदार उपलब्धि के लिए

नगर की प्रमुख साहित्यिक, सांस्कृतिक, सामाजिक संस्थाओं ने अपनी ओर से हार्दिक

बधाई दी है।