किशुपुरा के लाल ने फिर किया भिण्ड का नाम रोशन* *डीएम स्पेशलिस्ट डॉक्टर की परीक्षा में 99.89 अंक लाकर पूरे भारत मे टॉप 3 में अव्वल

412

 

भिण्ड। अटेर क्षेत्र के अन्तर्गत आने वाले ग्राम किशुपरा गाँव में वैसे तो कई महान व्यक्ति पैदा हुए हैं पर एक बार उस गाँव के लाल ने फिर ऐसा परचम फैराया है कि भिण्ड नहीं अपुति पूरे मध्यप्रदेश का नाम रोशन किया है।
जानकारी के अनुसार अरूण सिंह भदौरिया पुत्र भगवान सिंह भदौरिया निवासी किशुपुरा हॉल बड़े हनुमान जी मन्दिर के बगल से उनके पिता एसएएफ में पदस्थ थे उन्होंने अपनी कड़ी मेहनत की दम पर अपने बच्चों को शिक्षित बनाने के लिए हर प्रयास किये और उनके बच्चों ने अपने पिता के अनुरूप नाम रोशन करते हुए ऐसा मुकाम हांसिल किया है, कि जिसे हांसिल करने के लिए कोई सोचता भी नहीं है, डॉ अरूण ने अपनी स्कूली शिक्षा मुन्नालाल स्कूल भिण्ड में की तथा उसके बाद उन्होंने प्रथम प्रयास में ही एमबीबीएस के लिए वर्ष 2008 में पीएमटी की परीक्षा उत्तीर्ण कर 24 वीं रैंक हांसिल की जब उनकी उम्र 18 वर्ष थी, वर्ष 2014 में शासकीय मेडीकल कॉलेल इन्दौर में एमबीबीएस की डिग्री पूर्ण होने के बाद फिर से एमडी की टेस्ट दी तो प्रथम प्रयास में उन्होंने उसे भी पास कर लिया, तथा एसएमएस शासकीय मेडीकल कॉलेज जयपुर में इसी माह एमडी मेडीसिन की डिग्री प्राप्त की। इसी सप्ताह एमडी मेडीसिन की डिग्री प्राप्त ही हुई थी कि अब अरूण ने एक और नया मुकाम हांसिल किया है जो उन्होंने नीट स्पेशलिस्ट के घोषित परिणाम में डीएम डिग्री के लिए प्रथम अवसर में पूरे भारत वर्ष में उत्तीर्ण हुये 2294 उम्मीदवार में 99.89 प्रतिशत अंक प्राप्त कर टॉप 3 रैंक में अपनी जगह बनाई। इस प्रकार की सफलता से डॉ. अरूण की सफलता और परिश्रम को ही दर्शाता है, कि उन्होंने इन सभी कठिन परीक्षाओं में प्रथम अवसर में ही सफलता प्राप्त की जो हमारे भिण्ड के लिए आने वाली पीढ़ी के लिए प्रेरणादायक है। डीएम की शिक्षा के लिए मध्यप्रदेश में कॉलेज न होने के कारण अब वह एसजीपीजीआई लखनऊ से शिक्षा प्राप्त करेंगें। अभी तक पूरे भिण्ड में डीएम डिग्री वाले सुपर स्पेशलिस्ट डॉक्टर कोई नहीं है। इसी अपार उपलब्धि पर बधाई देने वालों में उनके माता पिता के साथ-साथ गुरूजनों में हर्ष व्याप्त है,बधाई देने वालों में प्रमोद भदौरिया पत्रकार, हरिओम तोमर, सुल्तान सिंह तोमर, सोनू भदौरिय सीआरपीएफ , छिद्दन आदि लोग शामिल हैं।