राष्ट्रपति चुनाव में वोट नहीं कर सकेंगे नरोत्तम मिश्रा!

364

भोपाल,11 जुलाई। पेड न्यूज मामले में चुनाव आयोग द्वारा आयोग्य घोषित किए गए मंत्री नरोत्तम मिश्रा राष्ट्रपति चुनाव में वोट नहीं कर सकेंगे। क्यों कि अभी तक उन्हें कोर्ट से कोई राहत नहीं मिली है। नरोत्तम मिश्रा ने चुनाव आयोग के फैसले के विरुद्ध हाईकोर्ट में स्थगन याचिका दायर की थी लेकिन कोर्ट ने स्टे देने से यह कहकर इंकार कर दिया कि इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई है। अब सुप्रीम कोर्ट को ही इस मामले की सुनवाई का अधिकार है। यदि सुप्रीम कोर्ट में विशेष परिस्थितियों में सुनवाई होती है तथा नरोत्तम मिश्रा को स्टे मिलता है तभी वे 17 जुलाई को राष्ट्रपति चुनाव में वोट डाल सकेंगे।
मौजूदा हालात में नरोत्तम मिश्रा वोट नहीं डाल सकते। हाई कोर्ट में आज याचिकाकर्ता राजेन्द्र भारती के वकील विवेक तन्खा ने मीडिया से बातचीत में कहा कि मध्यप्रदेश में राजनैतिक हालात बिगड़ चुके हैं और याचिकाकर्ता को इंसाफ नहीं मिलने की आशंका है। इसलिए उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में एसएलपी दायर कर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई करने का आग्रह किया था। विवेक तन्खा ने आरोप लगाया है कि नरोत्तम मिश्रा ने पहले ग्वालियर हाईकोर्ट में रिट अपील दायर कर चुनाव आयोग के आदेश के खिलाफ स्टे मांगा था। जब ग्वालियर हाईकोर्ट से उन्हें कोई राहत नहीं मिली, तो उन्होंने जबलपुर हाईकोर्ट में ट्रांसफर करवा लिया। इन सभी कारणों के चलते याचिकाकर्ता को मध्यप्रदेश में न्याय न मिलने का अंदेशा हो गया था इसलिए याचिकाकर्ता ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। विदित हो कि इलेक्शन कमीशन ने पूर्व विधायक राजेन्द्र भारती की पेड न्यूज मामले की शिकायत पर नरोत्तम मिश्रा को अयोग्य ठहराते हुए अगले तीन साल तक चुनाव लड़ने पर रोक लगा दी है।
राष्ट्रपति चुनाव की सामग्री लेने दिल्ली रवाना हुए अधिकारी
जैसे-जैसे राष्ट्रपति चुनाव की तारीख नजदीक आ रही है चुनावी सरगर्मी भी तेज होती जा रही है। जानकारी के मुताबिक सहायक निर्वाचन अधिकारी पी.एन.विश्वकर्मा चुनाव सामग्री लेने के लिए दिल्ली रवाना हो गए हैं। केंद्रीय चुनाव कार्यालय से सामग्री लेकर वे 13 जुलाई को राजधानी लौटेंगे। बताया जा रहा है कि पी.एन. विश्वकर्मा राष्ट्रपति चुनाव में मतदान करने वाले मतदाताओं की सूची भी साथ लेकर आएंगे। चुनाव में मतदाताओं को इस बार एक विशेष प्रकार का पेन दिया जाएगा जिससे वे वोट करेंगे। राष्ट्रपति चुनाव में पहली बार वोट करने वाले मध्यप्रदेश भाजपा के मतदाताओं को 16 जुलाई को मुख्यमंत्री निवास में मतदान प्रक्रिया की जानकारी दी जाएगी। इसके पहले निर्वाचन आयोग द्वारा वोट डालने की जानकारी दी जाती थी,लेकिन पूर्व विधानसभा अध्यक्ष स्वर्गीय ईश्वरदास रोहाणी के कार्यकाल में डेमो प्रक्रिया को बंद कर दिया गया है।