कश्मीरी लड़की के इश्क में पड़कर मुजफ्फरनगर का संदीप बन गया था आतंकी आदिल ….

714

दिलचस्प कहानी

कश्मीर के अनंतनाग में गिरफ्तार किए गए मुजफ्फरनगर निवासी संदीप शर्मा पहला गैर कश्मीरी हिंदू आतंकवादी बताया जा रहा है. संदीप के आदिल बनने की कहानी भी दिलचस्प है. एक कश्मीरी लड़की के प्यार में पड़कर संदीप शर्मा आदिल बन गया और फिर आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के संपर्क में आकर उसके लिए फण्ड और आतंकियों को ले आने और ले जाने का काम करने लगा.

बताया जा रहा है कि संदीप को एक कश्मीरी लड़की से प्यार हो गया था, जिसके बाद उसने अपना नाम बदलकर आदिल रख लिया. धर्म परिवर्तन कर वह दोनों नाम का इस्तेमाल सुरक्षा बालों को चकमा देने के लिए करता था. जिससे न तो स्थानीय लोगों को शक हो और न ही सुरक्षा एजेंसियों को. दरअसल आतंकियों को एक स्थान से दूसरे स्थान ले जाने के लिए संदीप शर्मा नाम से शक नहीं होता था.

अपराध की राह से आतंकी बनने का सफ़र

संदीप करीब 2012 में वेल्डिंग का काम करने कश्मीर चला गया था. इसके बाद करीब तीन साल से उसका अपने परिवार से कोई संपर्क नहीं रहा. इस दौरान संदीप गर्मियों में पंजाब के पटियाला चला आता था. जहां उसकी मुलाकात कुलगाम निवासी शहीद अहमद से हुई. इसके बाद दोनों ने मुनीब और मुजफ्फर अहमद के साथ आपराधिक गिरोह बनाया. इसके बाद ये लोग वारदातों को अंजाम देने लगे. इस बीच संदीप की मुलाकात लश्कर के हार्डकोर आतंकी शकूर अहमद से हुई. इसके बाद संदीप अपने गिरोह के साथ उनसे मिल गया और एटीएम लूट और पुलिस पर हमले जैसे वारदातों को अंजाम दिया. लश्कर के लिए इस गिरोह ने कई बैंक और एटीएम भी लूटे. पुलिस पर हमला कर हथियार भी लूटे.


पुलिस और सुरक्षा के लिए है ये नई चुनौती

संदीप की गिरफ्तारी के बाद लश्कर के नए मोड्यूल का खुलासा हुआ है. जम्मू एंड कश्मीर के आईजीपी मुनीर खान ने कहा कि आपराधिक गिरोह अब आतंकियों का दमन थाम रहे हैं. यह पुलिस और सुरक्षा बालों के लिए नई चुनौती है. भविष्य में हमें एकदम नई चुनौती का सामना करना पड़ सकता है.