श्योपुर -कार का गेट ना खोलने पर CEO को आया गुस्सा, होमगार्ड से लगवाए ग्राउंड के 10 चक्कर…

1403

श्योपुर।मध्यप्रदेश के श्योपुर के जिले में होमगार्ड सिपाही द्वारा कार का गेट ना खोले जाने पर जिला पंचायत सीईओ (आईएएस) इतना भड़क गए कि उन्होंने उम्रदराज गार्ड को गन लेकर कलेक्ट्रेट के दस चक्कर लगाने का फरमान सुना दिया। गार्ड पांच चक्कर लगाने के बाद ही थक गया और चक्कर खाकर बैठ गया जिस पर सीईओ ने गुस्सा दिखाते हुए उसे फटकार लगा दी।
दरअसल, घटना गुरुवार दोपहर की है। मामला श्योपुर कलेक्ट्रेट कार्यालय के बाहर का है। गुरुवार की शाम कलेक्टर अभिजीत अग्रवाल ने एक बैठक बुलाई थी। बैठक खत्म होने के बाद जिला पंचायत सीईओ गर्ग बाहर निकले और गाड़ी में बैठ गए। जब सीईओ को गाड़ी के पास बॉडीगार्ड रामवअतार श्रीवास और ड्राइवर नहीं दिखे तो उनका पारा चढ़ गया।इसके बाद आगबबूला हुए गर्ग ने गार्ड को बंदूक उठाकर कलेक्टोरेट के दस चक्कर लगाने का फरमान सुना दिया।
गार्ड की उम्र पचास के आसपास थी इसलिए वो पांच चक्कर लगाने के बाद ही थक गया और चक्कर आने पर बैठ गया।फिर क्या था अपने मद में चूर गर्ग ने गार्ड को जमकर फटकार लगा दी औऱ उसे खूब अपमानित किया।इसके बाद गर्ग गार्ड को वहीं छोड़कर चले गए और गार्ड कलेक्ट्रेट से लेकर सीईओ के बंगले तक पैदल चलकर पहुंचा। इस घटना के बाद से ही होमगार्ड सैनिको में काफी गुस्सा है और उन्होंने इस बात की शिकायत ऊपर बैठे बड़े अधिकारियों से कर दी है।मामला मीडिया में आते ही गर्ग की मुश्किलें बढ़ गई है। उनसे संपर्क करने की कोशिश की जा रही , लेकिन वो अपना फोन नहीं उठा रहे है।
भले ही सरकार वीआईपी कल्चर को खत्म करने के लाखों दावे करे लेकिन उनके अधिकारी अभी भी इसको छोड़ने को तैयार नहीं है। मद में चूर अधिकारी इस तरह से अपने से छोटे पद पर पदस्थ लोगों को अपमानित करने में जरा भी नहीं कतराते ।