😷😷”अनूठी पहल”-बहन के घर भात में “सेनेटाइजर-मास्क” लेकर पहुचे भाई…! कोरोना संक्रमण काल मे “मदद बैंक सेवादार” की अनूठी पहल…

209

शिवपुरी-

“भईया मेरो कैसे आए कोरोना ठाडो उस पार ,बीरन मेरे भात पहनईयों बहना खड़ी है इस पार…!“कोरोना काल में वैवाहिक रस्मों के बीच यह रस्म भी देखने को मिली जहां भात पहनाने की रस्म में न केवल महामारी से बचाव के मंगल गीत गाए गए बल्कि भाई पक्ष के लोग उपहार स्वरूप सैनिटाइजर और मास्क भी लेकर आये ओर बहन को सोपे।


🎷बीते रोज मंजू देवेंद्र सिंह चौहान की पुत्री पल्लवी की शादी में मामा पक्ष से बलवीर सिंह बैंस ,बंटी तोमर ,मदद बैंक संस्था सेवादार उपेंद्र अन्नू तोमर भात लेकर पहुंचे। “कोरोना महामारी” को देखते हुए मामा पक्ष ने भात की सामग्री में अन्य सामानों के साथ सैनिटाइजर व मास्क को भी रखा ताकि बहन पक्ष के लोग इस महामारी से सुरक्षित रह सके। कन्या पक्ष की ओर से भी ना केवल इस भेट को हंसी खुशी स्वीकार किया गया बल्कि मंगल गीतों के बीच कोरोना के गीतों का भी समावेश किया गया जिसमें भात लेकर आने में भाई को कोरोना के कारण रास्ते मे होने वाली मुश्किले और भाई द्वारा बरते गये सुरक्षा के उपायों को भी गा-गा कर बताया गया। यह अनूठी पहल उपस्थित लोगों को खूब भाई ।भात की इस रस्म के बीच सोशल डिस्टेंसिंग बरतने ओर सुरक्षित रहने की सलाह भी मामा पक्ष ने दी।
वैवाहिक रस्मो में इस पहल को शामिल करने के पीछे मदद बैंक संस्था सेवादार उपेंद्र अन्नू तोमर का कहना था कि “कोरोना महामारी”के दौर में सबसे बड़ी खुशी खुद के व अपनो के सुरक्षित रहने से मिलती है। उत्सव खुशी का है लेकिन उस उत्सव में कुटुम्बियों,नातेदार-रिस्तेदार,समाजजनों,परिचितों के साथ सुरक्षा नियमो का पालन करना सबसे अधिक आवश्यक है इसलिए भात की सामग्री में “मास्क-सेनेटाइजर”की भेट सबसे अधिक जरूरी लगी।इसके अलावा बहन के घर भेट में लाये सामान को भी सेनेटाइज करके बहन को सोपा।अन्नू तोमर का कहना था कि कोरोना त्रासदी के दौर में मांगलिक आयोजनों के दौरान अन्य लोगो को भी इस पहल को शामिल करना चाहिए तांकि संक्रमण न फेले।उपस्थित लोगों ने इस पहल का स्वागत किया..!
🎺🎷🥁🎺🎷🥁🎷
😷😷😷😷😷😷😷