दिल्ली में मौत का तांडव,रिहायशी इलाके में चल रही फैक्ट्री में तड़के 5:22 बजे लगी भीषण आग …! 43 लोग जिंदा जले..!फैक्ट्री के अंदर 59 लोग सो रहे थे….! बड़ी खबर..

148
नई दिल्ली.राजधानी में उपहार सिनेमा हादसे के 22 साल बाद बड़ा अग्निकांड हुआ। नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से करीब 3.5 किमी दूर अनाज मंडी के रिहायशी इलाके में चल रही फैक्ट्री में रविवार तड़के 5:22 बजे आग लग गई। उस वक्त फैक्ट्री के अंदर 59 लोग सो रहे थे। इनमें से 43 लोगों की मौत हो गई, 16 जख्मी हैं। ज्यादातर मौतें दम घुटने(एस्फाइक्शिया) से हुई। मृतकों में ज्यादातर मजदूर बिहार के रहने वाले थे। 4 मंजिला मकान में चल रही इस फैक्ट्री में शॉर्ट सर्किट की वजह से आग लगी थी।क्राइम ब्रांच मामले की जांच करेगा। इससे पहले 13 जून 1997 को दिल्ली के उपहार सिनेमा में लगी आग में 59 लोगों की मौत हुई थी। दिल्ली पुलिस ने फैक्ट्री मालिक के खिलाफ गैर-इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया है। ऐसे मामले में दोषी पाए जाने पर 10 साल जेल की सजा हो सकती है। फैक्ट्री मालिक रेहान को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। घायलों को एलएनजेपी, आरएमएलऔर हिंदूराव अस्पताल मेंभर्ती कराया गया।बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ की टीम भी भेजी गई। फैक्ट्री में प्लास्टिक का सामान रखा था फैक्ट्री में स्कूल बैग और खिलौने बनाए जाते थे। दमकल विभाग के अफसर सुनील चौधरी ने बताया कि फैक्ट्री में बैग्स, बॉटल और अन्य सामानरखाहुआ था। प्लास्टिक मटेरियल होने की वजह से धुआं ज्यादा हुआ,इसलिएदम घुटने से लोगों की जान गई। दमकलकर्मियों के मुताबिक- अनाज मंडी इलाके में कई फैक्ट्रियों के पास अग्निशमन विभाग अनापत्ति प्रमाणपत्र(एनओसी) भी नहीं है। घना इलाका होने के चलते हमें बचाव अभियान में दिक्कत आई। एक बुजुर्ग ने बताया कि फैक्ट्री में 12-15 मशीनें लगी हुई थीं। बिजली कंपनी ने क्या कहा
आग बिल्डिंग के आंतरिक सिस्टम में लगी, क्योंकि मीटर पूरी तरह सुरक्षित हैं। बिल्डिंग के सामने से गुजर रहे वायर और पोल भी सुरक्षित हैं। आग बिल्डिंग की दूसरी और तीसरी मंजिल पर लगी, जबकि बिजली के मीटर ग्राउंड फ्लोर पर लगे हैं। आग अगर मीटर से लगती तो ग्राउंड फ्लोर पर लगती, न कि दूसरी और तीसरी मंजिल पर।
बताया जा रहा है कि इस चिट्ठी में पुलिस ने घटना का ब्योरा लिखा। यह चिट्ठी सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। 
28 मृतकों की शिनाख्त, इनमें 25 बिहार के निवासी डीसीपी नॉर्थ डिस्ट्रिक्ट मोनिका भारद्वाज ने बताया- अब तक 43 लोगों की मौत हुई है। इनमें से 28 की शिनाख्त हुई। 28 में 25 मृतक बिहार के रहने वाले हैं और इनमें भी सबसे ज्यादा तादाद समस्तीपुर, सहरसा और सीतामढ़ी के निवासियों की है। लोकनायक जयप्रकाश नारायण 51 लोगों को भर्ती कराया गया और यहां अब तक 34 की जान गई, इनमें से 23 की शिनाख्त हुई है। लोहिया हॉस्पिटल में भर्ती 11 में से 9 की मौत हुई और इनमें से 3 की शिनाख्त हुई।मृतक का नामनिवासीइमरानमुरादाबाद (उत्तर प्रदेश)मो. साजिदमुजफ्फरपुर (बिहार)मुशर्रफ अलीबिजनौर (उत्तर प्रदेश)गुड्डूसमस्तीपुर (बिहार)मो. सदरेसमस्तीपुर (बिहार)मो. साजिदसमस्तीपुर (बिहार)मो. इकराममुरादाबाद (उत्तर प्रदेश)अकबरसमस्तीपुर (बिहार)फैसलसहरसा (बिहार)सलीमसहरसा (बिहार)अफसारसहरसा (बिहार)शाकिर–अफजलसमस्तीपुर (बिहार)साजिदसमस्तीपुर (बिहार)मुखिया–एनुलसीतामढ़ी (बिहार)गयासुद्दीनसीतामढ़ी (बिहार)जोजोसमस्तीपुर (बिहार)गनवासमस्तीपुर (बिहार)दुलारेसीतामढ़ी (बिहार)अब्बासमुजफ्फरपुर (बिहार)राजूमुजफ्फरपुर (बिहार)अय्यूब–नवीन कुमारबेगूसराय (बिहार)मो. गुलाबसीतामढ़ी (बिहार)सनाउल्लाहसीतामढ़ी (बिहार)मो. सज्जारसहरसा (बिहार)जाहिदसहरसा (बिहार) उपहार सिनेमा में फिल्म चलते वक्त हुआ था हादसा दक्षिण दिल्ली के ग्रीन पार्क स्थित उपहार सिनेमा में लगी आग में 100 से ज्यादालोग गंभीर रूप से घायल हुए थे। 13 जून 1997 को जिस समय यह घटना हुई, थिएटर में बॉर्डर फिल्म चल रही थी। इसी दिन सुबह 6.55 बजे थिएटर परिसर में लगे दो ट्रांसफॉर्मरों को बिजली बोर्ड ने ठीक किया था। माना जाता है कि मरम्मत ठीक से नहीं हुई और शाम 4.55 बजे इन ट्रांसफॉर्मर में आग लग गई। इस आग ने पूरे सिनेमा हॉल को अपनी चपेट में ले लिया था। हादसे के जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई होगी: मंत्री
  • केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का ट्वीट- समस्त संबंधित विभागों को निर्देश दिए हैं कि तत्काल आवश्यक कदम उठाएं।
  • राहुल गांधी का ट्वीट- दिल्ली की अनाज मंडी में, भीषण आग से कई मौत और अनेक लोगों के घायल होने की खबर से आहत हूं। घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।
  • मंत्री इमरान हुसैन का ट्वीट- यह हादसा दुर्भाग्यपूर्ण है। इसकी जांच की जाएगी। इसके जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।