*POSITIVE STORY* 🐣 *शहर की सबसे खूबसूरत बिंदास गर्ल …! इसके जीवन के बारे में जानकर आपकी नज़रों में उसकी खूबसूरती न केबल कई गुना बढ़ जायेगी बल्कि देश दुनिया के तमाम मॉडलों के अंदाज फीके पड़ जायेंगे…!जी हां, गंभीर बीमारी से जूझते हुये बिंदास अंदाज में जीवन जीती एक भोली सी लड़की की “हौंसलो की उड़ान….* *जानिये, जीवन के रंग मंच पर अल्हड़ता से अदाएं बिखेरने बाली खूबसूरत अदाकारा “पूनम पुरोहित”के बारे में….!* ✍ *खबर आजकल डॉट कॉम के संपादक बृजेश सिंह तोमर की स्पेशल स्टोरी-“हौंसलो की उड़ान…*

1449

*POSITIVE STORY*

✍✍✍✍✍✍
*‍♂परियों सी खूबसूरत छरहरी काया,मुस्कराहट बिखेरता बिंदास अंदाज,अल्हड़ता,मासूमियत ओर होठो पर कमसिन मुस्कराहट…!यकीनन,यह अल्फ़ाज़ आपको किसी वॉलीवुड एक्ट्रेस या मॉडल की तारीफ में लिखे गये नजर आएंगे किन्तु ऐसा नही है..! यह कहानी है “पूनम पुरोहित” की जिसके बारे में जानकर आपकी नज़रों में उसकी खूबसूरती न केबल कई गुना बढ़ जाएगी बल्कि देश-दुनिया के तमाम मॉडलों के अंदाज फीके पड़ जायेंगे…! शॉक हो जायेगे आप यह जानकर कि जीवन के रंगमंच पर अल्हड़ता से अदाएं बिखरने बाली यह अदाकारा गभीर बीमारी “ब्लड कैंसर” की मरीज है…???*
*..लगा न झटका…! आप सिहर सकते है,डर सकते है किंतु मजाल है कि लेश मात्र भी भय पूनम के इर्द-गिर्द भी फटकता हो…! आखिर है न मिसाल “पूनम” की खूबसूरती…!*
*MONDAY POSITIVE*🐣 *शहर की सबसे खूबसूरत बिंदास गर्ल …! इसके जीवन के बारे में जानकर आपकी नज़रों में उसकी खूबसूरती न केबल कई गुना बढ़ जायेगी बल्कि देश दुनिया के तमाम मॉडलों के अंदाज फीके पड़ जायेंगे…!जी हां, गंभीर बीमारी से जूझते हुये बिंदास अंदाज में जीवन जीती एक भोली सी लड़की की “हौंसलो की उड़ान….*
*♂♂आइए,जानते है जिंदादिली की जीवंत मिसाल इस खूबसूरत गुड़िया “पूनम पुरोहित” के बारे में…*♂‍♂‍♂
———————————-

👉 *शारीरिक तकलीफ पर भारी रहे आर्थिक हालात….!*

🔹 *बचपन से ही चुलबुली पूनम के परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नही थी।अभावों में जीवन जीते हुये उसने पढ़ाई की।महज 19 साल की उम्र में कॉलेज आते आते उसका शरीर साथ छोड़ने लगा।शारीरिक कमजोरी के साथ अक्सर बुखार रहने लगा।उसके पारिवारिक हालात हमेशा उसे बेहतर इलाज से रोकते रहे और वह परिस्थितियों को भापकर अपना दर्द परिवार में किसी से न कह स्की।उसके शरीर पर नीले चकत्ते होने लगे थे,कमजोरी इतनी कि चलना भी दूभर हो गया था।बकौल पूनम वह यह जान चुकी थी कि उसे कोई न कोई गंभीर बीमारी हो सकती है..।प्रतिकूल शारीरिक स्थिति के बाद भी उसने बी कॉम की परीक्षा दी।अब तक वह चलने-फिरने से भी असमर्थ हो चुकी थी…!*

👉 *2012 में खुला राज कि उसे है “ब्लड कैंसर…”*

———-//—————
★★ *अक्सर बीमार रहने के बाद 2012 में पूनम के माता-पिता ने अनुभवी चिकित्सक के कहने पर जांचे कराई।जांचों में आने बाला परिणाम परिवार को हतप्रभ कर देने बाला था..! पूनम को “ब्लड कैंसर” था…?????*

👉 *ओर मजबूत हुआ आत्मबल….*

——————————
★★ *”पूनम” के हौंसलो की उड़ान यहाँ से शुरू होती है।जहाँ गंभीर बीमारी के बारे में जानकर इंसान जीते जी मर जाता है वही इसके ठीक विपरीत यहाँ से “पूनम” ने अपनी साहसिक जिंदगी शुरू की।उसका आत्मबल ओर अधिक मजबूत हुआ।उसने मौत को मात देकर जीने की ठानी।अस्पताल की दर्दभरी प्रक्रिया भी उसके हौंसलो,जुनून पर भारी नही हो पाई।अब उसकी मुस्कराहट में ओर अधिक खूबसूरती आ गयी थी।उसकी अल्हड़ता ओर अधिक शोखी भरी हो गयी थी।उसका चहकना ओर बढ़ गया था।*
*अब वह “करुण रस” की नही बल्कि बसन्त ऋतु जैसी “श्रंगार ओर ओज रस”की प्रतिमूर्ति हो गयी।अब उसके सामने लक्ष्य बीमारी की भयावहता से संघर्ष करना नही बल्कि जिंदादिली के साथ जीकर दिखाना था।*

👉 *फिर मिला एक फरिश्ता…!!*

★★ *”जहाँ चाह वहाँ राह..”! विपरीत आर्थिक परिस्थियों में “पूनम”ने जीना शुरू किया,थोड़ा सही पर सम्भव उपचार लेना शुरू किया।बीमारी अपना असर दिखाती थी तो शरीर अपना।चन्द दवाइयां हल्की सी सही पर राहत देने का प्रयास करती थी। इन सब पर भी भारी रहता था उस गुड़िया का जबरदस्त हौंसला जो उसके चेहरे पर शिकन तक नही आने देता था।इसी कशमकश के बीच ईश्वर ने एक फरिश्ते से उसके तार जोड़े।पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा के रूप में एक मददगार को भेजा।उम्मीद की एक किरण मानकर पूनम ने खुद ही तत्कालीन केबिनेट मंत्री नरोत्तम मिश्रा से सम्पर्क कर अपनी आपबीती सुनाई।**नरोत्तम मिश्रा ने पूनम को हर तरह की चिकित्सा सेवाये मुहैय्या कराई।भोपाल और दिल्ली बेहतर से बेहतर इलाज कराया।निरन्तर 6 वर्षो से पूनम को अब हाई प्रोफाइल चिकित्सा सेवाये मिल रही है।दवाओं से अधिक असर पूनम का जुनून कर रहा है जिसके चलते आज उसकी बिंदास जीवन शैली को देखकर उसे देखने बाला कोई भी व्यक्ति यह नही कह सकता कि वो किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित है….!नरोत्तम मिश्रा को यह परिवार भगवान मानने लगा।आज भी पूनम का संघर्ष जीवन के रंगमंच पर बिंदास अदाएं बिखेरते हुये जारी है…*

👉 *गंभीर बीमारी से जूझ रहे लोगो के लिये “आइकॉन”है “पूनम”..!*

★★ *पूनम ने बीमारी से खुद का ध्यान हटाने के लिये पत्रकारिता ओर सामाजिक कार्यो को अपना पेशा बनाया।खबरों के वेबपोर्टल का संचालन किया ।सामाजिक कार्यो में उसकी निरन्तर भागीदारी रहती है।जरा सी आवाज पर किसी के लिये भी खड़े हो जाना उसकी नियमित दिनचर्या है।25 साल की उम्र में वह अपने पारिवारिक दायित्वों का भी भली प्रकार से निर्वहन कर रही है।आज पूनम गंभीर बीमारी से जूझ रहे उन लोगो के लिये आइकॉन है जो बीमारी का नाम सुनकर ही टूट जाते है।**व्यस्त शेड्यूल के साथ पूनम की दिनचर्या निरन्तर जारी है।आये दिन वह भले अस्पताल के पलंग पर भर्ती हो जाये किन्तु उसकी खूबसूरत मुस्कराहट लेशमात्र भी कम नही होती।छुट्टी होते ही वह डॉक्टर तक की तमाम नसीहतों को हवा में उड़ा देती है और उन्मुक्त वातावरण में स्वछंद विचरण करने लगती है।खुली हवा में आकर मानो उसके पंख लग जाते है।उसे लोगो की सहानुभूति तक की दरकार नही होती और बातचीत के दौरान अल्हड़ता से मुस्कराती रहती है।*
—————————-

🔹🔹 *आइए,आपको भी रूबरू कराते है खूबसूरती की मिसाल बिंदास गर्ल “पूनम पुरोहित”से…*

🎤 *सबाल-जबाब…*🎤

🎤🎤🎤🎤🎤🎤🎤
*( खुद विंदास गर्ल “पूनम” की जुबानी…..*)*🎧🎧🎧🎧🎤🎧🎧

*✍(खबर आजकल एडिटर)- क्या हुआ था यह जानकर कि आपको ब्लड केंसर है...??*

🔹 *पूनम*🎤- *रिपोर्ट आने पर जब माँ ने रोते हुये बताया कि ब्लड केंसर है तो कुछ पल को लगा कि दुनिया खत्म हो गयी।लेकिन अगले ही पल लगा कि “तो क्या हुआ..?जब तक जीना है शान से जीना है”!यहाँ तक कि इलाज के पर्चे भी माँ के साथ जाकर में खुद ही बनबाती थी जिसे देखकर लोग आश्चर्य करते हुये कहते थे कि देखो,ये लड़की खुद ही अपना इलाज करा रही है..?मेरी जीवन शैली देखकर किसी को विश्वास ही नही होता….! *★(बोलने का वही बिंदास अंदाज,वही मुस्कराहट ओर आत्मविश्वास..)*

*✍(एडिटर)-फिर क्या सोचा था आगे के संघर्षो के बारे में….?*

🔹 *पूनम🎤 -सोचना क्या,बस जिंदगी को पहले से अधिक बिंदास अंदाज में जीना है।जीवन मे जो भी सपने है उन्हें हर हाल में पूरा करना है।गंभीर बीमारी से जूझते हुये आत्मबल खो देने बालो को हौसला देना है।सेल्फ कॉन्फिडेंस से कोई भी जंग जीती जा सकती है,वो चाहे बीमारी से हो या जीवन की किसी भी विकट परेशानी से…!ओर में जीतकर ही रहूंगी…!! *★(वाकई,चेहरे पर फौलादी आत्मविश्वास💪)*

*✍एडिटर(खबर आजकल.कॉम)-ईश्वर को मानते है आप…??*

🔹 *पूनम🎤*- *बिल्कुल,चिंताहरण हनुमानजी की विशेष कृपा है। उन्ही के रूप में मुझे “दादा”(नरोत्तम मिश्रा को संबोधन)मिले ओर दोनों के ही आशीर्वाद से में आज सकुशल हु…!आज दादा मेरे परिवार के लिये भगवान है..*

*✍🏻एडिटर-क्या संदेश देना चाहेगी आप लोगो के लिये…?*

*🔹पूनम*🎤 – *यही कि एक दिन मौत तो सभी को आनी है तो “जिंदगी जीकर मरे,न कि मर-मरकर जिये..! परिस्थितियां चाहे जो भी हो मगर अपने आत्मविश्वास,अपने होंसले को छोटा मत होने दो..! महिला होकर भी जब में जी सकती हूं तो ओर लोग क्यों नही..!इरादे मजबूत रखो,जीत अवश्य होगी।

*”जिंदगी जिंदादिली का नाम है…,*

*मुर्दादिल क्या खाक जिया करते है…!!*

——————————–
✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻

*✒सम्पादक की कलम से….✒*

✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻

*★★पूनम पुरोहित से उसके जीवन के विषय पर बात करना समूचे हिंदुस्तान की नारी शक्ति पर गर्व करने जैसा था।गंभीर बीमारी से ग्रसित होते हुये भी उसका होंसला,उसका आत्मविश्वास हिमालय की तरह फौलादी बुलन्द था।उसके बारे में लिखना ,सोचना कल्पना मात्र से रोंगटे खड़े कर देने जैसा था।यकीनन,पूनम का हौंसला नज़ीर है उन तमाम लोगो के लिये जो जीवन मे किसी भी विषम परिस्थिति,बीमारी के हालात में धैर्य खो बैठते है और जीतेजी मर जाते है।इस प्यारी सी गुड़िया को सदैव शूभकामनाये….!सुधि पाठकगण भी दुआ के साथ आशीर्वाद दीजिये इस “खूबसूरत गुड़िया”को…!*
यह जीवंत स्टोरी आपको केसी लगी,हमे अवश्य बताइयेगा…!

✍🏻 *बृजेश सिंह तोमर*
(प्रधान संपादक)
📞 *9425488524*(w)
📞 *7999881392*

✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻

✒ *खबरों के साथ निरन्तर बने रहने के लिये देखते रहिये..*

*www.khabaraajkal. com*

*(हर खबर सच पर नज़र..)*