बड़ी खबर: प्रभारी मंत्री तोमर को किया जा सकता है मंत्रिमण्डल से बहार, अटकलें तेज | 

253
शिवपुरी। भाजपाई बार-बार कांग्रेस की सरकार को गिराने के बायनबाजी करते रहते हैं,लेकिन मौजूदा हालत को देखकर लगता हैं कि कांग्रेस को अब अपनो से ज्यादा खतरा होता दिख रहा हैं। अब कांग्रेस की आपसी गुटबाजी की आंच मप्र सरकार की टांग खिचाई तक पहुंच गई हैं। बताया जा रहा हैं की मप्र सरकार की केबिनेट बैठक में सिंधिया समर्थक माने जाने वाले जिले के प्रभारी मंत्री प्रधुम्मन सिंह तोमर की झडप प्रदेश के सीएम से हो गई हैं। इस कारण मंत्री पद से हाथ धोना पड सकता है ऐसी अटकलो की हवाए चल रही हैं।

मुख्यमत्री कमलनाथ को प्रदेश में सरकार चलाने में अडचने भाजपा से नही बल्कि अपनो से ही हो रही हैं। सरकार को मजबूत करने के लिए सपा बसपा के साथ कुछ वरिष्ठ कांग्रेसी विधायको को मंत्रिमण्डल में शामिल किया जाना था। ओर इसके लिए कुछ मंत्रीयो से इस्तीफा लिए जाने थे, इसकी भनक सिंधिया समर्थको को लग गई ओर वे सक्रिय हो गए।

कहा जा रहा है कि सिंधिया समर्थक मंत्रीयो ने एक बैठक कर रणनीति भी बनाई हैं कि अगर किसी भी मंत्री पर इस्तीफे का दबाब डाला जाता हैं तो सभी मंत्री एक साथ इस्तीफा देंगें। बताया जा रहा हैं कि जब विधानसभा सरकार बनी थी और उसके बाद मंत्री मण्डल बना तो कई कांग्रेसी सहित निर्दलीय और सरकार को समर्थन दे रहे दुसरे दलो के विधायक नाराज हो गए थे।
उनकी नाराजगी को स्वयं सीएम कमलनाथ ने बैठकर दूर किया और कहां कि लोकसभा चुनाव के बाद मंत्रिमण्डल का विस्तार किया जाऐगा। लोकसभा चुनावो के बाद नाराज विधायको ने मंत्री बनने के लिए दबाब बनाना शुरू की रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया था,लेकिन सीएम कमलनाथ की समस्या यह है कि नए मंत्री बनाने के लिए कुछ मंत्रियो से इस्तीफा लिया जाए।

इस कारण यह तय किया गया कि सिंधिया और दिग्गी राजा कोटे के 2-2 मंत्रीयो को कैबिनेट से बहार कर दिया जाए,लेकिन इस बात की भनक सिंधिया समर्थक मंत्रियो को लग गई ओर वे सक्रिय हो गए। बताया जा रहा हैं कि मंत्रियो की कैबिनेट बैठक में जिले के प्रभारी मंत्री प्रधुम्मन सिंह तोमर ने मोर्चा खोल दिया।

बताया यह भी जा रहा हैं कि सीएम कमलनाथ ने मंत्री तोमर को खूव खरी खोटी भी सुनाई ओर कहा कि मुझे पता है कि तुम किसके इशारे पर यह काम कर रहे हो,सूत्र यह भी बता रहे है कि सीएम और प्रभारी मंत्री की इस नोकझोक को वहां मौजूद कुछ मंत्रियो ने हस्तेक्षेप कर मामले को शांत किया हैं,लेकिन मंत्री प्रधुम्मन सिंह तोमर बीच कैबिनेट से उठकर चले गऐ।

अब राजनीतिक हल्को में यह अटकले तेज हो गई अब सीएम और शिवपुरी के प्रभारी मंत्री के संबंधो में खटास बढ गई हैं ओर सीएम कमलनाथ प्रधुम्मन सिंह तोमर को मंत्रिमण्डल से बहार करने का रास्ता तलाश रहे हैं।