पुलवामा- पूर्व दस्यु सम्राट दद्दा मलखान सिंह का ऐलान- सरकार कहे तो 700 साथी लेकर कर दूं पाकिस्तान पर चढ़ाई*

336

*पूर्व ‘डाकू’ मलखान सिंह का ऐलान- सरकार कहे तो 700 साथी लेकर कर दूं पाकिस्तान पर चढ़ाई*

मलखान सिंह ने कहा कि देश के सभी नेताओं को पार्लियामेंट में बैठना चाहिए और पाकितान के खिलाफ फैसला लेना चाहिए. पाकिस्तान के घर में घुसकर उसकी धज्जियां उड़ाने का वक्त आ गया है.

कभी बीहड़ में आतंक का पर्याय बन चुके डाकू मलखान सिंह की गोलियों की तड़तड़ाहट से लोग कांपते थे.

पुलवामा आतंकी हमले से आहत पूर्व दस्यु सरगना मलखान सिंह ने कहा कि एमपी में 700 बागी बचे हैं. अगर सरकार चाहे तो बिना शर्त, बिना वेतन के हम अपने देश के लिए बाॅर्डर पर लड़ने-मरने को तैयार हैं.

दरअसल मलखान सिंह शहीदों के श्रद्धांजलि सभा में शामिल होने के लिए कानपुर आए थे. पूर्व दस्यु सरगना मलखान सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि पुलवामा में जो हमारे सैनिक शहीद हुए हैं, उसको लेकर हमारा खून खौल रहा है.

उन्होंने कहा कि चुनाव होंगे और होते रहेंगे लेकिन पुलवामा हमले का बदला जरूर लेना चाहिए. अगर कश्मीर पर फैसला नहीं लिया गया तो कोई भी राजनीति पर विश्वास नहीं करेगा.

मलखान सिंह ने कहा कि हम अनाड़ी नहीं हैं. हमने पंद्रह साल तक चंबल की घाटी में कोई कथा नहीं बाची, जो होगा देखा जाएगा लेकिन मलखान सिंह पीछे नहीं हटेगा. उन्होंने कहा कि हमारी प्लानिंग बहुत पक्की रहेगी. इसलिए हम चाहते है कि हमको बॉर्डर पर भेज दिया जाए.

मलखान सिंह ने कहा कि देश के सभी नेताओं को पार्लियामेंट में बैठना चाहिए और पाकितान के खिलाफ फैसला लेना चाहिए. पाकिस्तान के घर में घुसकर उसकी धज्जियां उड़ाने का वक्त आ गया है.

मलखान सिंह ने कहा कि मैंने 1982 में आत्मसमर्पण किया था. उस वक्त अर्जुन सिंह मुख्यमंत्री थे. यह आत्मसमर्पण इंदिरा गांधी की परमिशन पर हुआ था.