ज्योतिषाचार्य पं विकास दीप शर्मा को मिली वाचस्पति उपाधि, ज्योतिष में “” शनि ग्रह एक परिचय “” विषय पर किया पीएचडी शोध ….!डॉ की उपाधि से हुये अलंकृत….!

316

पं विकास दीप डॉ की उपाधि से हुए सम्मानित ।
शिवपुरी के मंशापूर्ण मंदिर के पुजारी स्व. चतुर्भुज जी शर्मा और पं गोपाल कृष्ण शर्मा के सुपुत्र पं विकास दीप शर्मा ज्योतिषाचार्य को मिली वाचस्पति उपाधि ।।

29 10 2018 को ओम्कारेश्वर में ज्योतिष विश्व विद्या पीठ नागपुर यूनिवर्सिटी की शाखा द्वारा ज्योतिष में “” शनि ग्रह एक परिचय “” पर पीएचडी शोध किये जाने पर उपाधि प्राप्त हुई ।

पं विकासदीप अपनी उम्र 22 वर्ष से ही लगातार ज्योतिष में रुचि ओर अपना निरंतर शोध और अध्ययन करते चले आ रहे है । बहुत छोटी उम्र में अपने दादा ओर पिता जी के पद चिन्हों पर चलकर अपने कुल परिवार का नाम रोशन किया । साथ ही समाज के हित मे भी समय समय पर अपने ज्योतिष अध्ययन से लोगो को लाभ पहुचाया ।

शिवपुरी शहर की जन्म कुंडली बनाकर पिछले कई सालों से लगातार उस पर अपना शोध प्रस्तुत करते रहते है । चुनावी भविष्यवाणी भी कई बार ज्योतिष आंकलन से पूर्वानुमान कर किया जाता रहा है ।

श्री मंशापूर्ण हनुमान जी मंदिर पर पूजा सेवा कार्य पं गोपाल कृष्ण पिताजी द्वारा उनको समय समय पर मार्ग दर्शित किया जाता रहा है । विकासदीप दीप जी को मंशापूर्ण हनुमान जी, पूर्वजों ओर गुरु कृपा सदैव उनके ऊपर बनी हुई है ।।

इस शनि ग्रह एक परिचय शोध में उन्होंने शहर के 50 ऐसे लोगो की जन्म पत्रिकाओं पर अपना शोध किया है जो शनि ग्रह से कही कही जीवन मे प्रभावित हुए है । इस पीएचडी में विकासदीप जी को विशेष मार्गदर्शन ओर आशिर्बाद श्री डॉ ऐ. के.वाजपेयी गुरूजी जो कि ग्वालियर MLB कॉलेज में प्रोफ़ेसर है । और श्री माई महाराज के साधक भी है । इसी के साथ नागपुर की डॉ कविता त्रिवेदी जी ने भी इसमे पूर्ण योगदान प्राप्त हुआ है ।।

1998 से 2018 का 20 साल का सफर ज्योतिष के छेत्र में 5000 से अधिक जन्म पत्रिका बनाकर दूर दूर तक लोगो तक पहुँचा चुके है । whatsup ओर facebook के माध्यम से भी लोगो को अपना अमूल्य समय प्रदान करते है ।।

आज के आधुनिक युग के संस्थानों का पूर्ण उपयोग करके लोगो की ज्योतिष द्वारा कुंडली के माध्यम से समस्याओ का निराकरण करने का पूर्ण सफल प्रयास करने में हमेशा लगे रहते है ।।

वर्तमान में aura पंच तत्वों से मानव और प्रकृति का आपसी संबंध इस छेत्र में भी एक नवीन खोज और प्रयास में लगे हुए है । जिसमे भविष्य में लोगो को रोगों की जानकारी और उसका निवारण मंत्र और साधना के माध्यम से करने का सफल प्रयास हो ।।