मोदी सरकार की नीति फेल,स्विस बैंक में 50 फीसदी बढ़ा भारतीयों का काला धन…

625

देश में कालेधन को खत्म करने की मुहिम चलाने वाली मोदी सरकार को तगड़ा झटका लगा है। स्विटजरलैड के केंद्रीय बैंक की रिपोर्ट के अनुसार भारतीय खाताधारकों का स्विस बैंकों में जमा धन चार साल में पहली बार बढ़ कर पिछले साल एक अरब स्विस फैंक (7,000 करोड़ रुपए) के दायरे तक पहुंच गया है। जिसमें 50 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। यह खुलासा वहां के केंद्रीय बैंक की ताजा आंकड़ों में किया गया है।

इसके अनुसार भारतीयों द्वारा स्विस बैंक खातों में रखा गया धन 2017 में 50% से अधिक बढ़कर 7000 करोड़ रुपए (1.01 अरब फ्रेंक) हो गया। 2017 के पहले तीन साल यहां के बैंकों में भारतीयों के जमा धन में लगातार गिरावट आई थी।अपनी बैंकिंग गोपनीयता के लिए पहचान बनाने वाले इस देश में भारतीयों के जमाधन में ऐसे समय दिखी बढ़ोतरी भारत सरकार के लिये चिंताजनक है। क्योंकि मोदी सरकार विदेशों में कालाधन रखने वालों के खिलाफ काफी कड़ा रुख अपना रही है।

वहां की केंद्रीय बैक के सालाना रिपोर्ट के अनुसार स्विस बैंक खातों में जमा भारतीय धन 2016 में 45 प्रतिशत घटकर 67.6 करोड़ फ्रेंक (लगभग 4500 करोड़ रुपए) रह गया था। यह राशि 1987 से इस आंकड़े के प्रकाशन की शुरुआत के बाद से सबसे कम था और उस वक्त स्विस बैंकों को भारी नुकसान हुआ था।

एसएनबी के आंकड़ों के अनुसार भारतीय खाताधारकों द्वारा स्विस बैंक खातों में सीधे तौर पर रखा गया धन 2017 में लगभग 6891 करोड़ रुपए (99.9 करोड़ फ्रेंक) पर पहुंच गया है। वहीं प्रतिनिधियों या धन प्रबंधकों के जरिए रखा गया धन इस दौरान 112 करोड़ रुपए (1.62 करोड़ फ्रेंक) तक रहा।