भोपाल – मुश्किल में शिव का राज ….! सरपन्चो सचिवों सहित सभी का अल्टीमेटम.

2060

शिवराज सरकार को सरपन्चो सचिवों सहित सभी का अल्टीमेटम।
जय सिह चोहान
भोपाल प्रदेश की भाजपा सरकार के सी एम शिवराज सिंह की दिन प्रति दिन मुश्किलें बढती जा रही है। जेसे जेसे चुनाव का समय पास आता जा रहा है वे एक वेसे भस्मासुर की तरह प्रदेश सरकार के सभी विभागों के अधिकारी ओर कर्मचारी अपनी मागो को लेकर सडको पर आते जा रहे है।
महिला कर्मचारी तो सरकार को जगाने के लिए मुन्ढन तक रा रही है। पन्चायती राज्य का बुरा हाल है जिला पन्चायत अध्यक्षों ओर जनपद के अध्यक्षों को अपने अधिकारों के लिए एक बार नही कई बार सडको पर आ कर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करना पडा अल्टीमेटम देना पडा तब कही जा कर सरकार ने ऊट के मूह मे जीरा जेसी मागे मानी। पन्चायत सचिवों को मन्त्री मुख्य मन्त्री के वादों के बाद भी आज तक उन की जायजा मागे नही पूरी की है ए ही हाल सरपन्चो का है।
प्रदेश सरकारी के पन्चायत विभाग का हाल तो बहुत खराब है। पिछले थे माह से मानरेगा मे सरकार सरपन्चो से काम तो लगातार करा रही है पर उन को भुगतान नहीं कर रही है। 23000 पन्चायतो के सरपन्च 10 लाख से लेकर 15 लाख के कराज मे एक एक सरपन्च है। ए सरपन्च अपनी परेशानी लेकर जब विभागीय मन्त्री गोपाल भार्गव के पास गए तो मन्त्री ने भुगतान करने या कराने की बात तो नही की उल्टे सरपन्चो को धमकाते हुए कहा कि पहले नेता गिरी बन्द करो। मन्त्री जी को सरपन्चो की परेशानी का एहसास क्यो होगा। उन को तो समय से पैसा गाडी रुतबा सब मिल रहा है। मानरेगा की मार के मारे सरपन्चो के घावों पर मलहम लगाने की जगह नमक छिडने का काम सरकार के मन्त्री कर रहे है। शायद कागरेसियो की तरह भाजपा सरकार के मन्तरियो के पेट भी भर गए है इसलिए मन्त्री ऎसा व्यवहार करने लगे है। या फिर ऎसा कर के अपनी ही सरकार के खिलाफ माहोल तैयार कर रहे है।
मानरेगा का भुगतान सरकार क्यो नही कर रही है। क्या भाजपा की केन्द्र मे बैठी मोदी सरकार शिवराज सिंह की सरकार को पैसा नहीं दे रही या फिर मानरेगा का पैसा किसी दुसरे कामों खर्च किया जा रहा है। सी एम को जनता के सामने स्थित साफ करना चाहिए।
भाजपा के पूर्व मीडिया प्रभारी डा हितैष वाचपेई सरपन्चो की इस परेशानी को दबीजुबान स्वीकार तो करते है पर इसे राजनैतिक चाल भी बता रहे है। वही नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह इसे सरकार की विफलता कर देते है। नेताप्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा कि भाजपा शासन मे पन्चायती राज पूरी तरह खत्म हो गया है। अजय सिंह ने सरकार से सरपन्चो के मानरेगा के भुगतान को शीघ्र करने की माग की है।
नाम नही छापने की शर्त पर कुछ सरपन्चो ने कहा कि जिले तरह ए सरकार हमे परेसान कर रही है अगर ए ही हाल रहा तो हम सरकार चुनाव मे सडक पर ला कर खडा कर देगे। हम ने सरकारी काम किया है भुगतान तो सरकार को करना ही पडेगा। पन्चायत के सरपन्चो सचिवों जनपद अध्यक्षो ओर जिला पन्चायतो के अध्यक्षो का ए अल्टीमेटम शिवराज सिंह की सरकार को कही भारी न पड जाए।