जीत-हार नहीं बल्कि खेल भावना महत्वपूर्ण – संजय गौतम

492

जीत-हार नहीं बल्कि खेल भावना महत्वपूर्ण – गौतम

शिवपुरी। कैलाशवासी राजमाता विजया राजे सिंधिया की स्मृति में आयोजित नाइट क्रिकेट टूर्नामेंट का भव्य समापन।

खेल ,खेल भावना का परिचायक होता है जिसमें जीत या हार कोई महत्व नहीं रखती । खेल को जीतने की भावना के साथ खेला जाए परिणाम चाहे जो कुछ भी हो। यह बात कैलाशवासी राजमाता विजयाराजे सिंधिया की स्मृति में फतेहपुर में आयोजित नाइट क्रिकेट टूर्नामेंट के फाइनल दिवस के अवसर पर मुख्य अतिथि की आसंदी से समाजसेवी व विधायक प्रतिनिधि संजय गौतम ने कही। उन्होंने कहा कि छोटे छोटे स्थानों पर इतनी बड़ी प्रतियोगिता का होना वाकई सराहनीय बात है।


कार्यक्रम में विशेष अतिथि बृजेश तोमर ने कहा कि अल्प समय के सीमित संसाधनों के बाद भी आयोजन समिति द्वारा निरंतर तीसरे वर्ष यह सफल आयोजन किया गया जिसके लिए समिति के सदस्य बधाई के पात्र है। फाइनल मैच में दोनों ही टीमो ने जीत के लिए स्वस्थ प्रतिस्पर्धा की जो सराहनीय है।
कार्यक्रम में वरिष्ठ खेल प्रशिक्षक छोटे खान व गिरीश मिश्रा ने भी खेलों के गुर खिलाड़ियों के बीच बांटे फतेहपुर क्षेत्र में आयोजित हुए इस सात दिवसीय नाइट क्रिकेट टूर्नामेंट में आयोजन समिति के स्थानीय पार्षद अरुण पंडित, अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के संभागीय महामंत्री संदीप सिंह राजावत, वार्ड 14 के पार्षद सुधीर आर्य की महत्वपूर्ण भूमिका रही। आभार व्यक्त करते हुए आयोजक संदीप राजावत द्वारा कहा गया कि पिछले 3 वर्षों से इस आयोजन को किया जा रहा है। जिसे अगले वर्ष ओर भी भव्यरूप प्रदान किया जाएगा। सभी साथियों को सहयोग के लिए धन्यबाद व्यक्त कर उन्होंने विजेता टीम को बधाई भी दी।

 

रोमांच पूर्ण मैच में विक्टोरिया क्लब ने की जीत दर्ज
7 दिनों तक आयोजित हुए इस नाइट क्रिकेट टूर्नामेंट में फाइनल तक पहुंचने के लिए सभी टीमों ने तमाम प्रयास किए किंतु अंतिम दौर में विक्टोरिया क्लब व गुडलक क्लब के बीच मैच हुआ गुडलक क्लब ने टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण का निर्णय लिया जो उनके लिए गलत साबित हुआ विक्टोरिया क्लब के बल्लेबाजों ने 113 रन का लक्ष्य खड़ा कर दिया जिसे गुड लक ने पाने का तमाम प्रयास किया किंतु सधी हुई गेंदबाजी व विक्टोरिया क्लब के मजबूत क्षेत्ररक्षण के कारण 108 रन पर पूरी टीम धराशाही हो गई और विक्टोरिया क्लब ने इस मैच को जीत लिया कमेटी द्वारा विजेता टीम को ₹ 21000 नगद व ट्रॉफी प्रदान की गई तथा उप विजेता टीम को ₹ 11000 व ट्रॉफी दी गई। मेन ऑफ द मैच टीम विक्टोरिया के बाबू को दिया गया। मेन ऑफ द सीरीज गुडलक टीम के कप्तान शिवा धाकड़ को दी गई। बेस्ट अंपायर हुप्पी गुरु व राहुल धाकड़ को दिया गया।