वायरल वीडियो का सच – / ठहरिये..ये वीडियो मेजर प्रफुल्ल का नहीं है..!

561

// ठहरिये..ये वीडियो मेजर प्रफुल्ल का नहीं है..!

० कुछ साल पहले शहीद हुए CRPF के
असिस्टेंट कमांडेंट सतवंत सिंह का है

पिछले दिनों हमारे जांबाज़ मेजर प्रफुल्ल अम्बादास मोहरकर जम्मू कश्मीर में LoC पर करी सेक्टर में शहीद हुए। उनके साथ कुछ अन्य जवान भी शहीद हुए।

मेजर प्रफुल्ल और उनके साथियों की शहादत को सलाम।

लेकिन जो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है वो मेजर प्रफुल्ल का नहीं है।इसमें उन्हें आखिरी वक्त तक अपनी यूनिट को कमांड देते दिखाया गया है।

इस वीडियो को जनरल वी के सिंह के वेरीफाइड फेसबुक पेज, आप नेता अलका लांबा के ट्विटर,तेलंगाना टुडे और सियासत डेली जैसी वेबसाइट्स ने शेयर भी किया।

“Altnews” ने इसकी पड़ताल की है।
असल में ये वीडियो CRPF के असिस्टेंट कमांडेंट सतवंत सिंह का है। 85 वीं बटालियन के सतवंत सिंह 8 जून 2009 को शहीद हुए थे। यह वीडिओ तब से ही यूट्यूब पर मौजूद है। CRPF के वेरिफाइड ट्विटर अकाउंट से इसे शेयर भी किया गया।

सेना और अन्य सुरक्षा बल की बहादुरी के लिए संदर्भ से अलग या गलत किसी भी तथ्य / प्रमाण को प्रचारित करना उचित नहीं है। उनकी बहादुरी के लिए किसी भी तरह के फेक वीडियो या फोटो की कोई ज़रूरत नहीं है।
ज़रा यह भी सोचिये कि असल में यह वीडियो जिन शहीद सतवंत सिंह का है उनके परिजनों को कैसा लग रहा होगा..?
Altnews के प्रतीक सिन्हा लिखते हैं–“हमें अपने जवानों पर गर्व करने के लिए फेक वीडियो और फोटो की ज़रूरत नहीं है”।
हमारे बहादुर जांबाजों और शहीदों पर हमें गर्व है।
मित्रो, हमें सेना, अर्धसैनिक बलों और पुलिस संबंधी किसी भी बात को प्रचारित, प्रसारित करते वक्त थोड़ी एहतियात बरतना चाहिए।
सेना और पुलिस है तो हम हैं । हम हैं तो सब है।

(साभार- वरिष्ठ पत्रकार डॉ राकेश पाठक जी की वॉल से..)