शिवपुरी – आदिवासी सम्मेलन में जनसंपर्क मंत्री मिश्रा ने सिंधिया का नाम लिए बिना किए करारे प्रहार* *-कहा जिन्हें आप जिताते हैं वह नहीं करते विकास*

628

*आदिवासी सम्मेलन में जनसंपर्क मंत्री मिश्रा ने सिंधिया का नाम लिए बिना किए करारे प्रहार*

*-कहा जिन्हें आप जिताते हैं वह नहीं करते विकास*

शिवपुरी
कोलारस में उपचुनाव की दस्तक के चलते जनसंपर्क मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने आदिवासी सम्मेलन को संबोधित करते हुए स्थानीय सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम लिए बिना उन पर करारे प्रहार किए और  कहा कि जिन्हें आप जिताते है वह विकास नहीं करते। उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि जिला पंचायत, जनपद पंचायत, नगर परिषद, विधायक और सांसद सभी कांग्रेस के है तो फिर सवाल यह है कि कोलारस विकास की दौड़ से क्यों पीछे है? इशारे-इशारों में उन्होंने उपचुनाव में भाजपा को जिताने की अपील करते हुए कहा कि 8 माह का ट्रेलर देखकर आप अगले 5 साल की फिल्म देखना और यदि अगले 8 माह में भाजपा का विधायक पसंद न आए तो उसे हरा देना। आदिवासी सम्मेलन को भाजपा जिलाध्यक्ष सुशील रघुवंशी ने भी संबोधित किया और उन्होंने डॉ. नरोत्तम मिश्रा को विकास पुरूष की संज्ञा देते हुए कहा कि उन्होंने अपने निर्वाचन क्षेत्र दतिया का कायाकल्प कर दिया है। विकास देखना है तो दतिया में जाकर देखिए। 
आदिवासी सम्मेलन में जनसंपर्क मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कटाक्ष करते हुए कहा कि यहां किसान आक्रोश रैली कांग्रेस द्वारा निकाली जाती है। जबकि यह रैली हमें निकालनी चाहिए क्योंकि कोलारस में सभी पदों पर कांग्रेस का कब्जा है। भाजपा के लिए तो सांस लेने की जगह भी नहीं है। कांग्रेस जबाव दे कि जनता ने जब उसे सभी पदों पर जिताया है तो विकास क्यों नहीं हुआ। भाजपा ने विकास नहीं किया यह तो समझ में आता है लेकिन सभी पदों पर कब्जा करने के बाद तुमने विकास क्यों नहीं किया। डॉ. मिश्रा ने कहा कि कांग्रेस ने क्या किया वह इसका जबाव दे। भाजपा ने क्या किया वह इसका जबाव दे और फैसला जनता को करने दो। एक शेर के माध्यम से कांग्रेस पर करारा प्रहार करते हुए डॉ. मिश्रा ने कहा कि कातिल ने बचने का अजब रास्ता निकाला भीड़ में घुसकर खुद ही पूछने लगा इसे  किसने मार डाला। उन्होंने कहा कि कोलारस का उपचुनाव साधारण चुनाव नहीं है। यह बहुत महत्वपूर्ण चुनाव है और  सिर्फ 8 माह का चुनाव है। यह पूरी फिल्म नहीं बल्कि फिल्म का ट्रेलर है और 8 माह का भाजपा का कार्यकाल देखकर अगले आम चुनाव में उसे वोट देने या न देने का आप फैसला करे। भाजपा को 8 माह का मौका दीजिए। कांग्रेस को तो 4 साल का मौका दे दिया और उन्होंने क्या किया?
*सम्मेलन में नरोत्तम मिश्रा का दर्द उभरा*
संसदीय चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी ज्योतिरादित्य सिंधिया के विरूद्ध डॉ.नरोत्तम मिश्रा गुना-शिवपुरी संसदीय क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी के रूप में चुनाव लडे थे।लेकिन वह पराजित हो गए थे। उस चुनाव की कसक आज आदिवासी सम्मेलन में डॉ.श्री मिश्रा द्बारा दिए गए भाषण में भी नजर आई। उन्होंने कहा कि जब में यहां आया था तो मैने कहा था कि जिन्हें आप वोट देते है वह विकास नहीं करते है और मेरी यह बात सत्य साबित हो रही है। डॉ. मिश्रा ने सम्मेलन में मौजूद श्रोताओं से पूछा कि आप मेरे विधानसभा क्षेत्र दतिया गए या नहीं गए और नहीं गए तो वहां जाकर देखिए कि विकास क्या होता है। दतिया का पूरी तरह कायाकल्प हो गया है। लेकिन यह क्षेत्र अभी भी विकास से कोसों दूर है।